फिल्म “काली” के विवाद पर अब संत कालीचरण आये आगे, इंदौर में कही ये बड़ी बातें

कालीचरण महाराज ने इंदौर में कहा कि हिंदुओं को संवैधानिक आश्रय लेकर कार्य करना चाहिए।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। साल 2021 में रायपुर में आयोजित धर्म संसद में महात्मा गांधी पर विवादित टिप्पणी कर सुर्खियों में आने वाले संत कालीचरण महाराज (Kalicharan Maharaj) ने इंदौर (indore) में डॉक्यूमेंट्री फिल्म काली का विवादित पोस्टर जारी करने पर कालीचरण महाराज ने फिल्म डायरेक्टर लीना मनिकमेकलाई के खिलाफ अपने भक्तों के साथ शहर के विभिन्न थानों में शिकायत दर्ज करने की ठान ली है।

यह भी पढ़े…IAS Tina Dabi : दूसरी शादी के बाद आईएएस टीना डाबी जिला कलेक्टर नियुक्त

इंदौर के सुखलिया के शारदा नगर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा कि गांधी के मामले उन्होंने जो बयान दिया था उस पर वो अडिग है। वही उन्होंने कहा कि वो काली की डायरेक्टर लीना मानिकमेकलाई और महुआ मोइत्रा के खिलाफ पुलिस को शिकायत दर्ज कराने जा रहे है, इसके साथ ही उन्होंने हिंदूवादी संगठनों के साथ ही मंदिर के पुजारियों से मांग की है कि वो अपने थाना क्षेत्रों में शिकायत दर्ज कराएं। उन्होंने कहा काली माँ का बेटा आह्वान कर रहा है कि माँ जगदम्बा के अपमान का बदला लो।

यह भी पढ़े…अच्छी सेहत के लिए सही समय पर बदले चादर, जाने चादर बदलने का सही वक्त

वहीं महुआ मोहित्रा के दोनों विवादित ट्वीट पर संत कालीचरण महाराज ने कहा कि हम सहते है इसलिए वो करते है और हमे सहनशीलता का त्याग करना चाहिए। वही उन्होंने शून्य शब्द को हिंदुओ पर कलंक बताते हुए कहा कि जो धर्म के दुष्ट है उनका हमे नाश कर देना चाहिए और यदि ऐसा नही कर पाते है तो सत्ता में ऐसे राजाओं को बिठाए जो दुष्टों का नाश कर दें। इसके अलावा उन्होंने कहा कि हिंदू कट्टर हो रहा है उसी का परिणाम है कि राम मंदिर हाथ मे आ गया और धारा 370 हट गई क्योंकि हिंदू कट्टर हिंदूवादी होकर एक ही राजा को सरकार में बार – बार बैठा रहा है। वहीं पीएम मोदी का नाम न लेते हुए उन्होंने कहा कि वो तीसरी बार सत्ता में बैठेंगे तो काशी और मथुरा हाथ मे आ जायेगा।

यह भी पढ़े…मध्यप्रदेश नगरीय निकाय चुनाव : कांग्रेस ने EVM की सुरक्षा पर खड़े किए सवाल

उन्होंने कहा कि राजनीति में सारी समस्याओं के समाधान का उपाय है राजा यदि चाहे तो धर्म का रक्षण हो सकता है। वहीं उन्होंने अपील की है कि हिंदुओं को मजबूत होने के लिए राजनीति का हिंदूकरण करना जरूरी है और हिंदुओं को वोटर योद्धा बनाना जरूरी है। वही हिंदू अपने-अपने पदों से अपनी-अपनी प्रतिष्ठा को धर्म के लिए विनियोग करना चाहिए, अगर हिंदू ऐसा नही करता तो धर्म का नाश तो ही रहा है। वही धर्म का अपमान अगर हिन्दू ऐसे ही सहेगा तो वो 12 हजार साल के लिए नरक में सड़ेगा। उन्होंने कहा कि सभी हिंदू संत, पुजारी और संगठन अपने क्षेत्रों से आक्रोश दर्ज कराएं। यदि ऐसा नही करते है तो ऐतिहासिक हिन्दू वीरों का सपना अधूरा रह जायेगा। वही उन्होंने फिल्म की डायरेक्टर को चुड़ैल कहना भी बेमानी बताते हुए कहा कि संवैधानिक तरीके से सभी को विरोध करना चाहिए, क्योंकि ये हिंदू देवी देवताओं का अपमान है।

यह भी पढ़े…Xiaomi MIX Fold 2 फोल्डेबल स्मार्टफोन जल्द आ रहा है दिलों पर करने राज, लीक हुए इसके कई फीचर्स, जाने

कालीचरण महाराज ने इंदौर में कहा कि हिंदुओं को संवैधानिक आश्रय लेकर कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि तमाम मुद्दों को छोड़कर हिंदुओं को हिंदुत्व के लिए वोट करना चाहिए। वही उन्होंने ये भी कहा हिंदुओं के 5 लाख मंदिर टूट गए और करोड़ों गायों की हत्या हुई है, वही हजार लव जेहाद केस हो चुके है, और 1 लाख गौवंश भारत मे रोज काटा जाता है। वही उन्होंने कहा पीएम मोदी अकेले क्या-क्या करेंगे बाकि लोग क्या घर मे नींद लेंगे। वही विधायको, राज्यसभा सांसदों और सांसदों को मिलाकर देश मे 4950 राजा राज कर रहे है, ऐसे में केवल मोदी, शाह और योगी अकेले मैदान में रहेंगे बाकि लोगो को भी आगे आकर हिंदुत्व बचाना होगा।