Murder: इंदौर में शिवसेना के वरिष्ठ नेता की गोली मारकर हत्या, समर्थकों में आक्रोश

इंदौर, आकाश धोलपुरे।

मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) के इंदौर में मंगलवार देर रात शिवसेना नेता रमेश साहू (Former state chief Ramesh Sahu) की  गोली मारकर अज्ञात बदमाशों ने हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि जब रमेश साहू खंडवा रोड़ स्थित ओम साईं राम ढाबे पर थे तभी अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। घटना के बाद साहू समर्थकों में भारी आक्रोश है।फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

घटना रात 11 बजे के बाद कि बतायी जा रही है जिसकी सूचना पुलिस को, रात करीब पौने 2 बजे मिली। घटना तेजाजी नगर थाना क्षेत्र के उमरीखेड़ा गांव की है जहां अज्ञात बदमाशों ने ढाबा संचालक और पूर्व शिवसेना प्रमुख रमेश साहू की गोली मारकर की हत्या कर दी और मौके से भाग खड़े हुए। 65 वर्षीय मृतक रमेश साहू शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए एम.वाय.अस्पताल भेज दिया है। मूल रूप से इंदौर की जती कालोनी रामबाग में रहने वाले पूर्व शिवसेना प्रमुख रमेश साहू ने प्रदेश में शिवसेना को खड़ा करने में महती भूमिका अदा की है। हालांकि उन पर भी कई आपराधिक मामले इंदौर के अलग – अलग थानों में दर्ज है। इंदौर में जैसे ही उनकी हत्या की खबर शिवसैनिको को लगी वैसे ही हर कोई स्तब्ध रह गया।

इधर, खंडवा रोड़ स्थित घटना स्थल पर आज सुबह इंदौर पुलिस के आला अधिकारी पहुँचे और उन्होंने घटना स्थल की बारीकी से जांच शुरू कर दी। फिलहाल, पुलिस की जांच जारी है और हत्या की वजह और अज्ञात बदमाशो की खोज में पुलिस जुट गई है। प्रारंभिक तौर पर आशंका ये जताई जा रही है कि कोई पुरानी रंजिश या लूट के इरादे से बदमाशों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया है।

इधर, शिवसेना के जिला प्रमुख लखन शर्मा ने घटना पर दुःख जताया और पुलिस से मांग की है कि जल्द ही दोषियों को गिरफ्तार किया जाए नही तो प्रदेश में शिवसेना सड़क पर उतरकर विरोध करेगी। वही उन्होंने इंदौर बढ़ते अपराधों के मामले में बीजेपी सरकार को दोषी ठहराया और कहा कि जिन प्रदेशो में बीजेपी(BJP) की सरकार है उन प्रदेशो में अपराधों का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। इधर, शिवसेना के पदाधिकारी आज इंदौर पुलिस के आला अधिकारियों से हत्यारो को पकड़ने की मांग का ज्ञापन भी सौंपेगी। बता दे कि 1991 से 2001 तक मृतक रमेश साहू ने शिवसेना के प्रदेश प्रमुख के तौर पर जिम्मेदारी सम्भाली थी और हर शिवसैनिक उन्हें प्रदेश में शिवसेना का पितृपुरुष मानता है। बता दे कि कल ही उन्होंने अपने परिवार के साथ श्राद्ध पूजन किया था और 4 दिन पहले ही उनका जन्मदिन भी मनाया गया और आज अचानक उनकी हत्या की खबर से पूरी शिवसेना स्तब्ध है।
फिलहाल, शिवसेना के पूर्व प्रदेश प्रमुख की हत्या के मामले में पुलिस की तफ्तीश जारी है।