शोभा ओझा का आरोप, ‘चित्रकूट मामले सहित अन्य वारदातों में बीजेपी कार्यकर्ताओं का हाथ’

-Shobha-Ojha's-accusation-The-hand-of-BJP-workers-in-other-incidents-including-Chitrakoot-case

इंदौर| कांग्रेस की मीडिया प्रभारी शोभा ओझा ने सोमवार को इंदौर के कांग्रेस कार्यालय में आयोजित महिला कांग्रेस कमेटी की बैठक में बीजेपी और पिछली शिवराज सरकार पर जमकर हमला बोला। शोभा ओझा ने चित्रकूट हत्याकांड में मासूमो की जान जाने का दोष बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल को ठहराया। उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि शिवराज सरकार ने प्रदेश को गुंडाराज में तब्दील कर दिया। बीजेपी की सरकार के समय भी अधिकांश अपराधी बीजेपी,संघ और बजरंग दल से जुड़े रहते थे लेकिन सरकार के संरक्षण में बच जाते थे। अब सरकार बदलने के बाद इन्हीं संगठनों से जुड़े अपराधी बेनक़ाब हो रहे है वही शिवराज सिंह चौहान अब घड़ियाली आँसू बहा रहे है। उन्होंने चित्रकूट हत्याकांड के अलावा इंदौर की कांग्रेस नेत्री ट्विंकल डागरे हत्याकांड का जिक्र करते हुए कहा कि उस मामले में ढाई साल तक आरोपी पकड़ में नही आये क्योंकि वो बीजेपी से जुड़े थे। 

ताई नही जनता तय करेगी किसको चाबी सौंपना है

महिला कार्यकर्ता सम्मेलन में मीडिया से बातचीत में शोभा ओझा ने कहा कि इंदौर की चाबी किसके हाथ मे होगी इसका फैसला इंदौर से लोकसभा सांसद सुमित्रा महाजन नही बल्कि इंदौर की जनता करेगी। वही उन्होंने ये भी कहा कि मोदी सरकार द्वारा महिला आरक्षण को लेकर सिर्फ जुमलेबाजी की गई है जबकि उनकी वरिष्ठ नेता ने पीएम मोदी को 33 प्रतिशत महिला आरक्षण के लिए पत्र भी लिखा था। उन्होंने कहा 2014 में यूपीए ने राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पास करवाया था लेकिन मोदी सरकार उसे टेबल पर भी नही ला पायी। वही पीएम मोदी द्वारा किये गए युवाओ, किसानों और देश की आम जनता से किये गए वादे पूरे नही हुए है इसके अलावा उन्होंने हर एक खाते में 15 लाख को पीएम मोदी का जुमला बताया। हालांकि लोकसभा में इंदौर से कांग्रेस की दावेदारी पर ओझा ने साफ कर दिया कि संगठन जो फैसला लेगा वो उन्हें मंजूर होगा। इंदौर में ओझा ने अपने तरकश से कई तीर निकाले और सीधे बीजेपी पर हमला बोला हालांकि इंदौर में महिला कांग्रेस सम्मेलन में ओझा का फ्रंटफुट पर आना ये कयास लगाने के लिए काफी है कि ओझा इंदौर से लोकसभा में अगुआई कर सकती है