पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म मामलें में SIT गठित, आरोपियों की होगी दुबारा रिमांड

इंदौर के रहने वाले राजेश विश्वकर्मा ने मेट्रीमोनियल साइट से छतीसगढ़ की रहने वाली सरकारी शिक्षिका से शादी थी, बाद में पता चला की राजेश पहले से शादीशुदा है, राजेश ने अपनी इस टीचर पत्नी का अपने ही दोस्तों से फार्म हाउस में सामूहिक दुष्कर्म करवाया, अब यह सभी जेल में है

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर में अपनी पत्नी के साथ गैंगरेप करवाने वाले सामूहिक दुष्कर्म के मामले में जांच के लिए आइजी राकेश गुप्ता ने विशेष जांच दल (एसआइटी) का गठन कर दिया है। इस मामलें में शिकायतकर्ता महिला के पति और मुख्य आरोपी राजेश विश्वकर्मा से बरामद मोबाईल, लैपटॉप और गैजेट्स का डेटा रिकवर कर कर पुलिस दोबारा रिमांड मांगेगी। एक अन्य आरोपित विपिन भदौरिया को रिमांड पर लेने टीम छतीसगढ़ रवाना हुई है। गौरतलब है की राजेश विश्वकर्मा ने छत्तीसगढ़ की सरकारी शिक्षिका से झूठ बोलकर शादी की और फिर उसके साथ अप्राकृतिक यौन संबंध बनाए , आरोपी ने अपनी ही पत्नी का अपने दोस्तों से सामूहिक दुष्कर्म करवाया, पत्नी जब वापस मायके छतीसगढ़ पहुंची तो राजेश ने उसे मरवाने का प्रयास किया जिसके बाद महिला ने इन आरोपियों के काले कारनामे पुलिस में उजागर किए।

यह भी पढ़े.. दराज में रिश्वत रखवाने का वीडियो वायरल होने के बाद जनपद सीईओ निलंबित

इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी राजेश के इंदौर स्थित फार्म हाउस पर बुलडोजर चला कर कार्यवाही की, वही इस मामले में आरोपी राजेश विश्वकर्मा उसका नौकर अंकेश, आनंद और दोस्त  विवेक को जेल भेज दिया गया है। इस मामलें में आरोपियों के विरुद्ध साक्ष्य एकत्र करने और जल्द विवेचना पूर्ण करने के लिए एसआइटी का गठन किया गया है, जिसका  एसडीओपी (सांवेर) को प्रमुख बनाया गया है। मदद के लिए क्षिप्रा और देपालपुर टीआइ सहित महिला एसआइ व सिपाहियों को भी शामिल किया है। एसपी के मुताबिक आरोपितों से जब्त गैजेट्स फोरेंसिक जांच व डेटा रिकवर के लिए लैब भेजे है। फोटो, वीडियो व अन्य जानकारी मिलने के बाद मुख्य आरोपित राजेश को जेल से रिमांड पर लिया जाएगा। उधर एक अन्य आरोपी विपिन भदौरिया की गिरफ्तारी के लिए टीम छग भेजी जा रही है। खुद को शूटर बताने वाले विपिन को छग पुलिस ने अवैध हथियार के साथ गिरफ्तार किया था। विपिन ने राजेश के कहने पर उसकी पत्नी को जान से मारने की कोशिश की थी।