26/11 को लेकर बोले स्पेशल डीजी, ऐसा हुआ होता तो नहीं होती बड़ी घटना

इंदौर| आकाश धोलपुरे| 2008 के मुंबई हमले को लेकर स्पेशल डीजी ने एक बड़ा बयान दिया जिसके बाद तत्कालीन पुलिस तैयारियों पर जैसे सवाल उठ खड़े हुए है। दरअसल, मुंबई में 26/11 अटैक के दौरान आतंकी अजमल कसाब ने एक तरह से मुम्बई को अपने आगोश में ले लिया था और जमकर आतंक मचाकर कई लोगो को मौत के घाट उतार दिया था| हालांकि हमले के बाद मुंबई पुलिस ने उसे गिरफ्त में तो ले लिया था लेकिन आतंकी हमले के दौरान हुई पुलिस की तैयारियों को लेकर एक सवाल आज मिनी मुंबई से उठा है। 

इंदौर में आयोजित राज्य स्तरीय शूटिंग प्रतियोगिता में विशेष सशस्त्र पुलिस बल के स्पेशल डीजी विजय सिंह यादव ने एक बड़ा बयान दिया। बयान के पहले उन्होंने मध्यप्रदेश पुलिस की ड्रील देखी और पुलिस द्वारा प्रतियोगिता में की गई फायरिंग की तैयारियों की जमकर सरहाना की। इसी दौरान उन्होंने मुम्बई 26/11 हमले को लेकर कहा कि मैंने उस समय के हमले के कई वीडियो देखें थे जिसमें ये दिख रहा था कि यदि उस समय पुलिस के अधिकारी इस तरह की शूटिंग प्रतियोगिता में भाग ले लेते तो निशाना सटीक होता और काफी हद तक हादसा टल सकता था। हालांकि उनके बयान का सीधा मतलब ये था कि यदि ऐसी तैयारी होती तो घटना पर लगाम लगाया जा सकता था। इंदौर में उन्होंने पुलिस की तैयारियों को लेकर संतोष भी जताया।