सुमित्रा महाजन को बनाया जा रहा है राज्यपाल! खबरों पर ताई ने कही ये बात

पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन को राज्यपाल बनाए जाने की खबरें एक बार फिर तेजी से चल पड़ी है। इन खबरों पर सुमित्रा महाजन ने अपना रिएक्शन भी दिया है।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। लोकसभा की पूर्व स्पीकर और इंदौर से 8 बार सांसद बन चुकी ताई यानी सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) को राज्यपाल बनाए जाने की खबरें एक बार फिर तेजी से चल रही है। 11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब महाकाल लोक का लोकार्पण करने के लिए उज्जैन पहुंचे थे तब उन्होंने सुमित्रा महाजन से चर्चा की थी। इसके बाद से ताई को इंदौर से जुड़े मामले की बैठकों में भाग लेते और खुलकर बात करते हुए देखा जा रहा है। इसी बीच ये खबरें सामने आई कि उन्हें राज्यपाल बनाया गया है। अब इन खबरों पर ताई का रिएक्शन सामने आया है और उन्होंने कई बातें कही है।

2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान ताई की उम्र को देखते हुए उन्हें टिकट नहीं दिया गया था। इसके बाद से उन्हें नई जिम्मेदारी देने की चर्चा चल रही थी। यह जानकारी सामने आई थी कि रविवार को कुछ राज्यों में राज्यपाल की नियुक्ति की जाने वाली है। इसी बीच ये चर्चा चल पड़ी कि महाराष्ट्र में सुमित्रा महाजन को राज्यपाल बनाया गया है। ये खबर सामने आते ही सोशल मीडिया पर ताई को बधाई देने का सिलसिला शुरू हो गया। ताई के समर्थकों ने उन्हें फेसबुक और ट्विटर पर बधाई संदेश भेजना शुरू कर दिया। यह देखकर सुमित्रा महाजन ने इन सभी खबरों का खंडन करते हुए बताया कि लोग मुझसे यह बोल रहे हैं कि मैं राज्यपाल बन गई हूं लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है। जो लोग राज्यपाल बनाने का फैसला करते हैं उनकी तरफ से मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है और ना ही मेरी इस बारे में चर्चा हुई है।

 

Must Read- गुजरात के मोरबी में केबल ब्रिज टूटा, 10 की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

 

यह पहली बार नहीं है जब सुमित्रा महाजन को राज्यपाल बनाए जाने की खबरें सामने आई है। इसके पहले उन्हें गोवा का राज्यपाल बनाए जाने की चर्चा भी खूब चली थी। बता दें कि ताई महाराष्ट्र के कोंकण के चिपलुण से ही है और यहां पर उनके कई रिश्तेदार भी रहते हैं। इसी के चलते उन्हें वहां का राज्यपाल बनाने की खबरें चल रही है। हालांकि, कुछ लोगों का यह भी कहना है कि वह लोकसभा की स्पीकर रह चुकी है जोकि सर्वोच्च संवैधानिक पदों में से एक है इसके बाद उन्हें राज्यपाल नहीं बनाया जाएगा।

सुमित्रा महाजन को राज्यपाल बनाए जाने की खबरों पर उनका कहना है कि मुझसे किसी ने कुछ भी नहीं पूछा है। दिल्ली से भी इस संबंध में उन्होंने कोई फोन या संदेश आने से साफ मना किया है। उनका कहना है कि जो लोग यह जिम्मेदारी मुझे देंगे उन्हें मुझसे पहले पूछ लेने दो अभी ऐसा कुछ भी नहीं है।