Indore News : कपडा व्यापारियों ने टैक्स वृद्धि के खिलाफ निकली रैली, वाणिज्यकर आयुक्त को सौंपा ज्ञापन।

कपड़ों पर टैक्स बढ़ाए जाने से नाराज कपड़ा व्यापारी एसोसिएशन ने सरकार के इस फैसले के खिलाफ कड़ा विरोध जताया।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। कपड़ों पर टैक्स बढ़ाए जाने से नाराज कपड़ा व्यापारी एसोसिएशन ने सरकार के इस फैसले के खिलाफ कड़ा विरोध जताया है। सभी व्यापारियों ने एक स्वर में कहा कि सात फीसदी टैक्स बढ़ाए जाने की घोषणां से व्यापार पर निश्चित ही सीधा असर पडे़गा। साथ ही इससे हमारी लागत भी बढ़ जाएगी। लिहाजा ऐसी स्थिति में सरकार इसे तत्काल वापस ले, वर्ना इसका भार आम जनता पर भी पड़ेगा।

यह भी पढ़े…Breaking News : भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की घोषणा

आपको बता दें कि कपड़ा व्यापारी एसोसिएशन ने वाणिज्यकर कार्यालय पहुंचकर,कमिश्नर लोकेश जाटव को बढ़ाए गए जीएसटी के खिलाफ ज्ञापन सौंपा। साथ ही उन्होंने जीएसटी को फिर से 5% की दर से लागू करने की मांग की है ताकि व्यापारियों को व्यापार संचालित करने में किसी भी तरह की परेशानियों का सामना ना करना पड़े।

यह भी पढ़े…सरकार ने पेंशनर्स को दिया बड़ा फायदा, मिलेगा लाभ, नहीं रुकेगी पेंशन की राशि

दरअसल, अभी हाल में भारत सर्कार कपड़ें पर gst की दरों को 5 % से बढ़ा दिया था। सरकार द्वारा बढ़ाई गयी जीएसटी दरों के खिलाफ इंदौर में लगातार कपड़ा व्यापारी एसोसिएशन द्वारा आवाज़ बुलंद की जा रही है। इसी कड़ी में व्यापारियों ने कमिश्नर कार्यालय पहुंचकर सरकार के खिलाफ ज्ञापन सौंपा, साथ ही मांग रखी है कि कपडे पर जो 12% जीएसटी बढ़ाया गया है। उसे वापस लेकर 5% जीएसटी कर दिया जाए। अगर सरकार ने टैक्स को कम नहीं किया तो इसका भार सीधा आम जनता पर पड़ेगा।