सांवेर की सियासत में सामने आया बैल, कांग्रेस ने बताया जनभावना का प्रतीक, बीजेपी शिकायत करने के मूड में

इंदौर, आकाश धोलपुरे। प्रदेश की सियासत में अब जुबानी टाइगर के बाद जीवंत बैल भी उतर आए है। दरअसल, प्रदेश में होने वाले उपचुनाव के एपिसेंटर सांवेर में सियासी घमासान जारी है। इसी घमासान के बीच कांग्रेस उम्मीदवार के एक बैल पर चुनाव प्रचार के अनूठे तरीके ने इंदौर में सियासी बवाल मचा दिया है। बैल की तस्वीर सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है।

दरअसल, वायरल तस्वीर में बैल के सींग पर कांग्रेस का रंग दिख रहा है, वहीं बैल के शरीर पर पंजे के निशान के साथ लिखा हुआ है कि सांवेर का विकास प्रेमचंद गुड्डू। इसके अलावा राज नंदिनी…. लिखकर चुनावी प्रचार का अंत किया गया है।

बैल पर कांग्रेस के उम्मीदवार प्रेमचंद गुड्डू के प्रचार के मामले पर अब सियासत जमकर गरमा गई है। जहां कांग्रेस बैल पर लिखी बातों को ग्रामीणों द्वारा प्रकट की गई भावना बता रही है वहीं बीजेपी इस मामले पर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत आपराधिक मामला दर्ज कराने के लिए आमदा है। इस मामले को लेकर कांग्रेस के उम्मीदवार प्रेमचंद गुड्डू ने कहा कि ये वीडियो मैंने देखा है और इससे लोगो की जनभावना प्रदर्शित होती है कि जिस तरह से कमलनाथ जी ने गौशालाएं खोली और गाय माता को 20 रुपए के हिसाब से चारे की व्यवस्था की थी। लेकिन बीजेपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने गौशालाएं बन्द कर दी और गाय माता के लिए जो 20 रुपए चारे के लिए दिए जा रहे थे उसे घटाकर 1 रुपए 60 पैसे कर दिए। उन्होंने तस्वीर को लोगो की जनभावना से जोड़कर कहा कि ये महज प्रतीक रूप से लोगों ने दिखाया गया है। इससे ये प्रतीत होता है कि बीजेपी सरकार ने गौधन के प्रति जो व्यवहार किया और इसलिए लोगों में आक्रोश है।

जहां कांग्रेस उम्मीदवार ने वायरल तस्वीर को जनभावना से जुड़ा हुआ माना है इसे शिवराज सरकार के प्रति लोगो का आक्रोश बताया है वहीं दूसरी ओर बीजेपी में वायरल तस्वीर में चस्पा किये गए चुनाव प्रचार को बेहद गम्भीर मामला बताया है। बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता उमेश शर्मा ने सीधे सवाल करते हुए कांग्रेस उम्मीदवार प्रेमचंद गुड्डू से कहा कि आपकी और आपके समर्थकों की कल्पनाशीलता अद्भुत और अनूठी होने के साथ ही वेदनादायी भी है। बीजेपी प्रवक्ता ने कहा बेजुबान पशुओं को मताधिकार भी नही प्राप्त है अगर इनको मताधिकार प्राप्त होता तो शायद वोटों की गिनती से पता चल जाता कि ये आपके पक्ष में हैं या नहीं। उमेश शर्मा ने कहा कि बेजुबान पशु के शरीर पर चुनाव प्रचार लिखने से कांग्रेस का खर्चा कम लग रहा है, ऐसे में कांग्रेस और प्रेमचंद गुड्डू को केवल गाय बैल ही क्या भैंस, घोड़ो, श्वानों और सुअर सहित सभी बेजुबान जानवरों पर भी स्लोगन लिखवा देना चाहिए जो घूम घूम कर उनका चुनाव प्रचार करेंगे। उन्होंने सीधे हमला बोलते हुए कहा कि ‘प्रेमचंद गुड्डू आपको लज्जा नही आती है, अब मैं पशु क्रूरता अधिनियम के तहत आपकी शिकायत करने जा रहा हूँ और आप पर प्रकरण भी दर्ज हो सकता है’। बीजेपी प्रवक्ता की मानें तो बेजुबान यदि बोल सकते तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाता। वहीं बीजेपी प्रवक्ता उमेश शर्मा ने तंज कसते हुए कांग्रेस और सांवेर से उपचुनाव के लिए उम्मीदवार प्रेमचंद गुड्डू को एक नारा भी सुझाया “कांग्रेस और प्रेमचंद गुड्डू के सम्मान में, सारे जानवर मैदान में।”

फिलहाल, वायरल तस्वीर के मामले में कांग्रेस का कहना है ये बीजेपी सरकार के प्रति ग्रामीणों का आक्रोश है तो दूसरी ओर बीजेपी द्वारा बेजुबान जानवर के शरीर पर किये जा रहे अत्याचार का आरोप कांग्रेस पर लगा रही है। अब इस मामले में कानूनी रास्ते पर चलकर बीजेपी, कांग्रेस को जबाव देने की तैयारी में जुट गई है।