इंदौर, आकाश धोलपुरे। कोरोन काल ने बीते एक वर्ष में आर्थिक, सामाजिक और व्यापारिक गतिविधियों को भी रोक दिया है। उद्योगों में छाई निराशा और मंदी के बीच खेल के माध्यम से उद्योगपतियों को जोड़ने और प्रोत्साहित करने का प्रयास इन दिनों प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में किया जा रहा है। इसी तारतम्य में इंडियन प्लास्ट पैक फोरम द्वारा क्रिकेट स्पर्धा का आयोजन किया गया। क्रिकेट स्पर्धा (cricket match) के माध्यम से स्वचछता का संदेश देने के लिए इंदौर नगर पालिक निगम को 5 हजार प्लास्टिक डस्टबिन भेंट करने का कार्य भी किया गया।

दरअसल, मध्यप्रदेश में प्लास्टिक उद्योगों के सबसे बडे संगठन इंडियन प्लास्टिक फोरम ने प्लास्टिक उद्योगों के उत्साहवर्धन के लिए पहल करते हुए प्लास्टिक उद्यमियों के बीच 3 दिवसीय क्रिकेट प्रतिस्पर्धा का आयोजन किया। 5 मार्च से शुरू हुई स्पर्धा 7 मार्च को संपन्न हुई। इस स्पर्धा में विभिन्न प्लास्टिक इकाइयों की 12 टीमों ने भाग लिया। हर टीम में 8 खिलाड़ी थे और हर मैच 6 ओवर का था। निपानिया स्थित प्लेयर कोर्ट पर हुए रोमांचक क्रिकेट मैचों में हर टीम ने अपना बेहतर प्रदर्शन किया। इंडियन प्लास्ट पैक फोरम के अध्यक्ष सचिन बंसल ने बताया कि आयोजन के माध्यम से अपने उद्योगों में सुबह से शाम तक लगे रहने वाले उद्योगपतियों को उनके संस्थान के ही कर्मचारियों के बीच से खिलाड़ी चुनने थे। ये सभी खिलाड़ी मशीन ऑपरेटर, मैनेजर, सुपरवाइजर, पैकिंग या सप्लाई टीम के सदस्य थे। इस आयोजन को करने का उद्देश्य उद्योगों के बीच आपसी तालमेल और ऑफिस से बाहर एक साथ मिलने का अवसर मिलें और खेल के माध्यम से सभी को प्रोत्सहित करना रहा। उन्होंने बताया कि इस स्पर्धा में 300 प्लास्टिक इकाइयों के बीच में 12 टीम बना कर क्रिकेट मैच खेला गया है। 3 दिवसीय इस स्पर्धा में प्लास्टिक व्यवयास से जुड़े नाम पर टीम बनाई गई थी। फाइनल मुकाबला इंडियन प्लास्ट पैक फोरम और पोलिमर डिस्टीब्यूटर की टीम के बीच खेला गया। इस मुकाबलें में पोलिमर डिस्टीब्यूटर की टीम विजयी रही। विजेता टीम को 21 हजार रूपए का पुरस्कार दिया गया। रनर अप टीम को 11 हजार की राशि मिली। स्पर्धा के आयोजन को बैक क्रियेशन और इंडियन प्लास्ट टाइम्स ने स्पांसर किया था।

प्लास्टिक उद्योग के आईपीपीएफ क्रिकेट लीग में हुए रोमांचक मुकाबले