विचाराधीन महिला कैदी ने जेल में लगाई फांसी

इंदौर/आकाश धोलपुरे

इंदौर में मंगलवार को एक बड़ी घटना सामने आई है। शहर की जिला जेल में बीते 8 माह से दहेज प्रताड़ना सहित अन्य मामलों में विचाराधीन महिला कैदी ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। जेल में सुसाइड करने वाली महिला कैदी का नाम अंजू पति राजेंद्र सेन निवासी मेढ़क गांव गौतमपुरा है। जेल प्रशासन की माने तो 50 साल की अंजू सुबह आम दिनों की ही तरह उठी और उसके बाद उसने नाश्ता किया और नहाने का बोलकर बाथरुम में चली गई। बाथरूम में ही महिला कैदी ने अपने ब्लाउज से फांसी का फंदा बनाया और फांसी पर झूल गई। जेल प्रशासन के मुताबिक जब वह कुछ देर तक नही लौटी तो जेल प्रहरी महिलाओं ने उसे देखा तो वह फांसी के फंदे पर लटकी मिली।

बताया जा रहा है महिला कैदी इंदौर की जिला जेल में जुलाई 2019 से विचाराधीन कैदी के तौर पर सजा काट रही थी और उसके बेटे और पति भी इसी जेल में बंद है जिनसे 3 दिन पहले मृतक महिला कैदी की मुलाकात हुई थी, इस दौरान भी वह तनाव में नही थी। ऐसे में  अचानक उसने आत्मघाती कदम क्यों उठाया इसका जबाव मिलना अभी बाकी है। सूत्रों की माने तो अंजू नाम की महिला कैदी की बहू ने पूर्व में आत्महत्या कर अपनी जान दे दी थी तब से अंजू, उसका पति और बेटा जेल में सजा काट रहे है और अब अचानक अंजू ने भी खुदकुशी कर ली। फिलहाल, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एम.वाय. अस्पताल भेज दिया है।