दो मुंहे सांप को लेकर शंका के घेरे में वन विभाग

-The-forest-department-in-the-circle-of-doubt-about-the-two-mouth-snakes

इंदौर| इंदौर के एयरपोर्ट रोड क्षेत्र में 28 नवम्बर की सुबह 11 बजे एक दो मुंहा सांप निकला जिसे देखने के लिए लोगो की भीड़ लग गई थी। बताया जा रहा है कि सांप की कीमत बाजार में करोड़ो रूपये लगाई जाती है जिसका उपयोग कई तरह के टोटको में किया जाता है लेकिन सांप पकड़ने के बाद अब वह वन विभाग की टीम पर सवाल उठ रहे है।

दरअसल, 28 तारीख को सुरेश केजरीमल नामक व्यक्ति के घर के पीछे स्थित खेत मे एक दो मुंहा सांप निकला था जिसे वहा मौजूद लोग मारने की फिराक में थे इस बात की भनक सुरेश केजरीमल को लगी तो वे उसे पकड़कर एक थैली में भरकर अपने घर ले आये और उसे एक मटके में रख दिया। सांप को पकड़ने के बाद सीएम हेल्पलाइन पर सूचना दी गई ताकि वन विभाग सांप को उचित स्थान पर छोड़ सके। इसके वन विभाग से सम्बंधित व्यक्ति के पास फ़ोन पहुंचा और उसी दिन शाम को 5 बजे सांप को विभाग की टीम ले गई। इसके बाद अगले दिन सूचना देने वाले के पास वन विभाग के अधिकारियों का फोन आता है कि वो सांप के संबंध की गई शिकायत को सीएम हेल्पलाइन से वापस ले ले क्योंकि सांप को राला मंडल के जंगल मे छोड़ दिया गया। इसके बाद सूचना देने वाले के मन मे सवाल उठा और उसने अधिकारियों से पंचनामा रिपोर्ट की मांग के साथ सांप को जंगल मे छोड़ने का वीडियो मांगा। 

शिकायतकर्ता सुरेश केजरीमल की माने तो शुक्रवार सुबह आशीष यादव नामक व्यक्ति का फोन आया और उसने फिर से सीएम हेल्पलाइन की शिकायत वापस लेने के दबाव डाला। ऐसे में शिकायतकर्ता सुरेश केजरीमल का आरोप है कि वन विभाग ने सांप की सौदेबाजी कर दी होगी और इसलिये बार बार उनसे शिकायत वापस लेने को कहा जा रहा इधर, वन विभाग के अधिकारी मामले को लेकर कोई भी जबाव देने को तैयार नही है। इस घटना के बाद वन विभाग पर कई सवाल खड़े हो रहे है क्योंकि जब सांप को जंगल मे छोड़ दिया गया है तो क्यों नही पूरी जानकारी दी जा रही है और क्यों शिकायतकर्ता पर सीएम हेल्पलाइन से शिकायत वापस लेने को कहा जा रहा है।