ऐसा हुआ तो पेट्रोल-डीज़ल पर वैट कम कर सकती है सरकार, मंत्री ने दिए संकेत

इंदौर| इस समय देश में आर्थिक मंदी के कारण लोगों को परेशान होना पड़ रहा है लेकिन मध्य प्रदेश में मंदी का कोई असर नहीं है, वही मैग्नीफिसेंट एमपी के आयोजन के बाद अब मध्यप्रदेश में रोजगार के नए अवसर लोगों को मिलेंगे, 15 साल बाद मध्यप्रदेश में स्थितियां बदलने वाली है| यह कहना है प्रदेश के आबकारी मंत्री ब्रजेन्द्र सिंह राठौर का | वे इंदौर में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे| 

उन्होंने कई मुद्दों पर मीडिया से चर्चा की। प्रदेश में पेट्रोल डीजल पर वेट टैक्स बढ़ाए जाने को लेकर मंत्री ब्रजेन्द्र सिंह राठौर ने कहा कि कई राज्यों में मध्य प्रदेश से भी अधिक वेट टैक्स पेट्रोल डीजल पर लिया जाता है| उनका कहना है कि पेट्रोल-डीजल को भी जीएसटी के दायरे में लाना चाहिए, यदि केंद्र सरकार मदद करती है तो प्रदेश सरकार वेट टैक्स कम करने पर विचार कर सकती है|  प्रदेश में मिलावटखोरों के खिलाफ जारी सरकार के अभियान को लेकर उन्होंने कहा कि मिलावटखोरी के खिलाफ जो अभियान चलाया जा रहा है वो आने वाली पीढ़ी को मजबूत करेगा| हालांकि मिलावट की जांच को लेकर विभागों में हो रहे विवाद पर उन्होंने कहा कि संवैधानिक व्यवस्थाओं के तहत सभी विभागों की जिम्मेदारियां तय है। 

अधिकारियों द्वारा भष्ट्राचार के मामले सामने आने पर मंत्री राठौर ने कहा कि यदि अधिकारियों द्वारा भ्रष्टाचार किया जाता है और आम जनता की गाढ़ी कमाई का दुरुपयोग किया जाता है तो सबकी छवि खराब होती है, हालांकि अधिकारियो पर कार्रवाई को लेकर उन्होंने कहा कि कुछ प्रशासनिक व्यवस्थाएं होती है, लोकायुक्त छापे की जानकारी विभाग को मिल गयी है, भोपाल पहुँचते ही कार्रवाई होगी। वही ठेकेदारों के ऑडियो वायरल होने पर इसे जांच का विषय बताते हुए उन्होंने कहा कि इस तरह की बातें सामने आती है,तो उस पर एक्शन होता है।