केंद्रीय मंत्री का छलका दर्द, नशे को लेकर कही बड़ी बात

मेरे बेटे की नशे के चलते हुई मौत, पत्नि विधायक और खुद मंत्री होने के बाद भी नही बचा पाए जान

इंदौर, आकाश धौलपुरे। साल 2020 में भारत सरकार के आवास और शहरी केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर (union minister state kaushal kishor) का दर्द आज मीडिया के सामने छलक पड़ा। दरअसल, केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर आज इंदौर पहुंचे और उन्होंने ”स्वनिधि महोत्सव” के अंतर्गत स्वावलंबी रेहड़ी पटरी वालों के सम्‍मान कार्यक्रम में भाग लिया। हालांकि, इंदौर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान उन्होंने मीडिया से बात कर कहा नशे की लत के चलते उनके 28 साल के बेटे का असमायिक निधन हो गया। उन्होंने कहा कि वो खुद सांसद और उनकी पत्नी विधायक होने के बावजूद अपने बेटे को नही बचा सके।

केंद्रीय मंत्री का छलका दर्द, नशे को लेकर कही बड़ी बात

यह भी पढ़े…Commonwealth Games 2022 Day 2 : ट्रक ड्राइवर के बेटे ने जीता कॉमनवेल्थ गेम्स में दूसरा पदक, ब्रॉन्ज पर जमाया कब्जा

उन्होंने आगे कहा कि बेटे की मौत के बाद खुद 18 लाख से ज्यादा लोगों को नशे की बुरी लत से पीछा छुड़ाने का संकल्प दिलाया। उन्होंने कहा चरस, अफीम और गांजा को बेचने वाले खुद नशा नही करते है, और वो एक साजिश के तहत युवाओं को नशे की ओर धकेल रहे है। उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव पर 15 अगस्त को 75 लाख लोगों को नशा मुक्ति के लिए केंद्र सरकार द्वारा शपथ दिलाई।

यह भी पढ़े…जब छुटकू हाथी ने पानी में किया छई छप्पा छई, देखिये वीडियो

वही इंदौर की स्वच्छता और विकास के कायल केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर ने कहा कि देश के हर शहर को इंदौर की प्रशासनिक व्यवस्था से लेकर कार्य योजना को जानकर अपने शहरों में ऐसे काम कराना चाहिये। उन्होंने ये भी कहा कि इंदौर के बायो सीएनजी प्लांट की तर्ज पर देश में गीले कचरे व गोबरधन से बायो गैस का निर्माण करने के प्रयास किये जा रहे है। इधर, स्वनिधि कार्यक्रम के तहत पथ विक्रेताओ के द्वारा डिजिटल लेनदेन में सर्वाधिक केशबेक करने वालो का किया सम्मान उन्होंने इंदौर में किया।

यह भी पढ़े…नीमच : अध्यक्ष पद के प्रत्याशी का अपहरण कर मारपीट, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

हालांकि, महंगाई के मुद्दे पर केंद्रीय राज्यमंत्री ने साफ किया रूस व यूक्रेन युद्ध के कारण थोड़ी परेशानी आ रही है लेकिन जल्द ही स्थितियों में सुधार होगा।बताया जा रहा है कि इंदौर पीएम स्वनिधि के तहत 50 प्रतिशत लोगो ने पहले चरण की राशि को जमा कर दिया है वही दूसरे चरण में 12 हजार लोगों के 20 हजार की निधि स्वीकृत करने वाला इंदौर देश का पहला शहर हो गया है। आने वाले योजना के तहत 50 हजार रुपये तक की राशि पथ विक्रेताओं को दी जाएगी। कार्यक्रम के दौरान इंदौर सांसद शंकर लालवानी, मंत्री उषा ठाकुर, बीजेपी विधायक रमेश मेंदोला, बीजेपी नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे सहित अन्य गणमान्यजन मौजूद थे।