कानपुर के ठग ने इंदौर के शक्कर व्यापारी के साथ कि लाखों की ठगी, क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार।

देशभर में उसके द्वारा किये गए फ्रॉड का खुलासा हो सके।

इंदौर, आकाश धौलपुरे। सोशल मीडिया साइट जस्ट डायल का एक बड़ा साइड इफेक्ट सामने आया है जिसमे इंदौर के एक शक्कर व्यापारी उलझ गए हालांकि वक्त रहते कारोबारी ने पुलिस से संपर्क किया जिसके बाद क्राइम ब्रांच इंदौर की टीम ने ठगोरे को कानपुर से गिरफ्तार कर लिया है। वही पुलिस अब उसके रिकॉर्ड खंगाल रही है ताकि देशभर में उसके द्वारा किये गए फ्रॉड का खुलासा हो सके।

यह भी पढ़े…Betul News : फर्जी डॉक्टर ने ज्वेलर्स को लगाया चूना, सोने का सिक्का लेकर फरार

कानपुर के रहने वाले ठग ने जस्ट डायल पर फर्जी फर्म बनाकर लाखों का चूना लगाकर ठगी की घटना को अंजाम दिया। इसकी शिकायत एक व्यापारी ने क्राइम ब्रांच इंदौर से की तो पुलिस पड़ताल के बाद आरोपी तक पहुंची और उसे गिरफ्तार कर इंदौर लेकर आई। आरोपी ने इंदौर के व्यापारी के साथ 13 टन शकर की खरीददारी के नाम पर पौने दो लाख रुपए की ठगी की थी। ठगोरे ने व्यापारी के साथ सस्ते दाम पर शकर का सौदा किया और अपने खाते में व्यापारी से पौने दो लाख रुपये भी डलवा लिए जिसके बाद अरोपी ने अपना फोन बंद कर लिया।

यह भी पढ़े…इंदौर : धोखेबाज दोस्तो ने की दोस्त के घर लाखों की लूट, पुलिस ने दोस्तो को किया गिरफ्तार, राशि भी की जब्त।

व्यापारी ने क्राइम ब्रांच को शिकायत की थी की उसने नेट पर जस्ट डायल पर अलंकार फर्म से सम्पर्क कर 13 टन शक्कर मंगवाने का ऑर्डर दिया था और करीब दो लाख रुपए व्यापारी ने आरोपी के खाते में भेज दिए थे। जिसके बाद आरोपी ने माल की डिलेवरी नही भेजी तो व्यापारी को अपने साथ हुई ठगी का अहसास हुआ। वही क्राइम ब्रांच को जांच में पता साईट के जरिये आरोपी ने अलंकार फर्म के फर्जी नाम कर उपयोग कर ठगी की थी। जाँच में नम्बर कानपूर यूपी का निकला तुरंत ही क्राइम की टीम ने तकनीक के सहारे आरोपी की लोकेशन ट्रेस की और कानपुर जाकर उसे गिरफ्तार किया। ठगी के आरोपी का नाम प्रदीप पांडे है उसने फर्जी अलंकार फर्म का नाम उपयोग कर देश भर में अलग – अलग लोगो को ठगा है।

कानपुर के ठग ने इंदौर के शक्कर व्यापारी के साथ कि लाखों की ठगी, क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार।

यह भी पढ़े…जबलपुर : प्रधान आरक्षक प्रदीप सिंह का एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने किया सम्मान

डीसीपी क्राइम ब्रांच इंदौर निमिष अग्रवाल ने बताया कि आरोपी क्राइम ब्रांच पुलिस की रिमांड पर है जिससे पूछताछ पर बड़े खुलासे हो सकते है। वही उन्होंने लोगो और व्यापारियों से अपील की है कि वो बाहरी लोगों से प्रत्यक्ष तौर पर मिलकर कारोबार करें जो कि एक सुरक्षित तरीका है।