Indore News : आत्मनिर्भर भारत की ओर केंद्रीय जेल , महिला बंदियों के लिये ये अभिनव पहल

इंदौर, आकाश धोलपुरे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का आत्मनिर्भर भारत (Atmanirbhar Bharat) के सपने को आगे बढ़ाते इंदौर की सेंट्रल जेल (Indore central jail) में कुछ ऐसे प्रयास किये जा रहे है जिसकी तारीफ हर कोई कर रहा है। यहां महिला कैदियों ( women prisoners) को आत्म निर्भर बनाने के लिए जेल प्रशासन एक निजी संस्था के साथ मिलकर जेल में ही 3 माह का सिलाई प्रशिक्षण देने जा रहा है, जिसका आगाज किया जा चुका है।

यूं तो प्रदेश की अलग-अलग जेलों में बंद सालों से सजा काट रहे पुरुष कैदियों को तमाम तरह के उद्योग के माध्यम से रोजगार मिल रहा है लेकिन कई ऐसी महिलाएं है जो कई वर्षों से जेल में बंद हैं और जिनके लिए रोजगार की संभावनाओं पर ध्यान देना बेहद जरूरी है। इसी को देखते हुए महिलाओं को भी आत्मनिर्भर बनाने और आने वाले समय जेल से छूटने के बाद स्वरोजगार के माध्यम से अपना जीवन जी सकें और समाज में खुद व्यापार-व्यवसाय कर सकें, इसे लेकर एक निजी संस्था के साथ जेल विभाग द्वारा महिला कैदियों के लिए मुफ्त सिलाई मशीन उपलब्ध कराकर सिलाई का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिसमें 3 माह में निजी संस्था द्वारा महिलाओं को सिलाई सिखाई जाएगी, उन्हें प्रशिक्षण के दौरान प्रत्येक कपड़ा सिलने पर 100 रुपए भी दिए जाएंगे। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद महिलाएं रोजाना 300 से 400 रूपये हर रोज कमा सकती हैं।

बता दें कि सेंट्रल जेल में कुल 90 महिला कैदी अभी मौजूद हैं जिन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। जेल अधीक्षक संतोष भांगरे ने बताया कि प्रशिक्षण संस्था द्वारा 10 मशीन और जेल प्रशासन द्वारा 5 मशीन कुल 15 मशीनों पर महिलाओं को प्रशिक्षण देने की शुरुआत की गई है।