सीएम के आदेश की यूं धज्जियां उड़ा रहे उनके ही मंत्री

इंदौर।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, प्रदेश को होर्डिंग्स और बैनर मुक्त कराने के लिए लाख जतन कर ले, लेकिन आर्थिक राजधानी इंदौर में बिना पोस्टर बैनर के नेताओं को राजनीति नही भाती है। इसी का परिणाम है कि स्वयं सीएम के निर्देश के बावजूद उनके मंत्रियों द्वारा आदेश की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

दरअसल, आज मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट का जन्मदिन है और इसी के चलते उनके समर्थक अपनी खुशी का इजहार नियमो के विरुद्ध करते नजर आ रहे है। इंदौर में तो मंत्री के रेसीडेंसी क्षेत्र में स्थित सरकारी आवास को जन्मदिन की बधाइयों के होर्डिंग्स और बैनर से पाट दिया गया है। इस बात की जानकारी जैसे ही नगर निगम को लगी वैसे ही उन्हें हटाने के लिए निगम ने कवायद शुरू कर दी है। निगम बीते 3 दिनों से होर्डिंग्स हटाने के लिए प्रयासरत है, लेकिन मंत्री समर्थक निगम अधिकारियों से विवाद पर उतारू हो जाते है। 

आज एक बार फिर निगम ने नियमो का हवाला देकर होर्डिंग्स हटाने का प्रयास किया इस दौरान मंत्री सिलावट के भतीजे और समर्थकों ने निगम उपायुक्त महेंद्र सिंह से तीखी बहस की, वही मीडिया कर्मियों को भी कवरेज करने से रोका।विवाद इतना बढ़ा कि मंत्री के भांजों और समथर्काें ने  नगर निगम के अमले को  लाठियों से पीट दिया। वे उपायुक्त महेंद्र सिंह चौहान को भी मारने के लिए दौड़े। मंत्री के भांजे राहुल और रोहित सिलावट ने धमकाया भी। हालांकि बाद में अमले ने पुलिस के साथ मिलकर 250 से ज्यादा पोस्टर हटा दिए। मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि पहले मैं जानकारी लूंगा, फिर इस मामले में कुछ कहूंगा।

गौरतलब है कि सार्वजनिक स्थानों पर अवैध होर्डिंग्स और बैनर को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्पष्ट निर्देश दिए है यदि उनका स्वयं का पोस्टर भी हो तो हटा दिया जाए।लेकिन इस विवाद के बाद कहना लाजमी होगा कि नियम कायदों और आदेशों का पाठ पढ़ाने वाले मंत्री जी अपने ही मुखिया के आदेश का पालन अपने समर्थकों से करवाने में असफल साबित हो रहे है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here