ग्रामीणों को जहरीले सांप से बचाने वाले कि जान सर्प के काटने से गई

खेत में काम कर रहे ग्रामीणों की जान बचाने के लिए गुड्डू ने सांप को पकड़ा था, सांप पकड़ लेने के बाद गुड्डू सांप से खेलने लग गया और उसी वक्त सांप ने गुड्डू को काट लिया।

इंदौर,आकाश धोलपुरे। इंदौर से एक अजीब मामला सामने आया है और इसके बाद क्षेत्र के ग्रामीण इलाके में सबकुछ सुनसान पड़ गया। दरअसल, घटना इंदौर के सिमरोल थाना क्षेत्र के चोरल की है ,जहां खेत मे काम कर रहे एक युवक की मौत सांप काटने से हो गई। हैरानी की बात ये है कि जिस युवक को सांप ने काटा वो युवक, ग्रामीणों की जान सांप काटने से बचाने के लिए आगे आया लेकिन आखिर में युवक की जान शरीर मे फैले जहर ने ले ली।

इस अजीबोगरीब वाक्ये में ये बात सामने आई कि युवक ने सांप के काटने के बाद उसका जहर खुद ही चूसकर निकालने की कोशिश भी की लेकिन वो कामयाब नहीं हो सका। 30 वर्षीय गुड्डू पिता फूलसिंह बनोदा ने दो दिन पहले ही खेत में घुसे सांप को पकड़ा था और उसी सांप ने गुड्डू नामक युवक को काट भी लिया। हालांकि गुड्डू को जब सांप ने काटा तब ही उसने जहर चूस कर निकाल दिया था, लेकिन सांप के काटने से वह बीमार हो गया और दूसरे दिन उसकी मौत हो गई। सिमरोल थाना के प्रधान आरक्षक जगन्नाथ ने बताया कि गुड्डू पिता फूलसिंह नामक युवक को 29 सितंबर की शाम को खेत में था, उसी दौरान सांप के काटने से उसकी मौत हो गई और जिसके बाद उसे मृत अवस्था मे एमवाय अस्पताल लाया गया, जहां आज उसके पोस्टमार्टम के बाद उसका शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

बता दें कि घटना का वीडियो भी सामने आया है और जो अब सोशल मीडिया पर वायरल है। चोरल के खेत में काम करते वक्त गुड्डू उर्फ संतोष नामक युवक को एक रोज पहले सांप ने काट लिया था जब गुड्डू अन्य ग्रामीणों के साथ खेत में काम कर रहा था। कटी हुई फसल एक जगह इकट्ठा कर रहे हैं ग्रामीणों के साथ गुड्डू को भी फसल हटाने के बाद जमीन पर रेंगता सांप दिखा, तब दूसरे ग्रामीणों को बचाने के उद्देश्य से गुड्डू ने सांप को पकड़ लिया। गुड्डू के भाई गोपाल की माने तो सांप पकड़ लेने के बाद गुड्डू सांप से खेलने लग गया और इसी दौरान सांप ने गुड्डू के हाथ में काट लिया। हालांकि सांप के काटे जाने के बाद गुड्डू ने सांप के जहर को चूस कर निकाल दिया था, लेकिन सांप काटने के हैं बाद उसकी की हालत बिगड़ने लगी और उसको नजदीकी अस्पताल में इलाज के लिए भी ले जाया गया। लेकिन सांप के काटे जाने से जहर कुछ मात्रा में गुड्डू के शरीर में रह गया और 18 घंटे में जब सांप का जहर खून में शामिल हुआ तो वह उसकी मौत का कारण बन गया। सिमरोल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है।