बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी देने का अनूठा तरीका, पुलिस कांस्टेबल की अनोखी पहल

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर ट्रैफिक पुलिस के कांस्टेबल सुमंत सिंह कछावा ने बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी देने के लिए एक बेहद रोचक तरीका निकाला है। वे बच्चों को खेल खेल में और हंसी मजाक में सहज तरीकों से इन नियमों की जानकारी देने के साथ-साथ वाहन चलाने के बारे में भी समझा रहे हैं।

OBC Reservation : सरकार की ओर से हाईकोर्ट के नोटिस पर जवाब पेश

मध्य प्रदेश के गृह विभाग ने एक वीडियो जारी किया है और इस वीडियो में इंदौर के ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल सुमंत सिंह कछावा स्कूल के बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी देते नजर आ रहे हैं। दरअसल किसी भी व्यक्ति को नियम कायदों की जानकारी अगर किताबी ढंग से दी जाए तो वह शायद उसे समझे नहीं या समझ ना पाए। लेकिन अगर रोचक ढंग से किसी भी विषय वस्तु को समझाया जाए तो वह सही ढंग से समझ में आ जाती है। सुमंत ने यही तरीका निकाला और बच्चों को इकट्ठा करके बताने लगे कि किस तरह से यातायात के नियमों का पालन होना है। इतना ही नहीं, वह बच्चों को यह भी बताते हैं कि गाड़ी चलाते समय किस तरह से बैठना चाहिए और गाड़ी को ड्राइव करना चाहिए। सुमंत के बताने का तरीका इतना रोचक है कि बच्चे खिलखिला कर हंस पड़ते हैं और बेहद सहजता के साथ समझ जाते हैं कि वह नियमों को किस तरह से समझा रहे हैं।

सुमंत के समझाने का यह तरीका बेहद रोचक और आसान है और उम्मीद है कि इससे बच्चे न केवल यातायात नियमों को समझेंगे बल्कि अपने पालको को भी उसका पालन करने के लिए प्रेरित करेंगे। दरअसल मध्य प्रदेश में रोड एक्सीडेंट पर तमाम उपायों के बाद भी लगाम नहीं लग पा रही है और 80 फ़ीसदी एक्सीडेंट मामलों में यह पाया गया है कि इसकी वजह तेज रफ्तार या नियमों का पालन न करना रहा। ऐसे में यदि सुमंत जैसे रोचक तरीके अपनाए जाते हैं तो निश्चित रूप से न केवल सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगेगा बल्कि इनमें होने वाली जनहानि को भी रोका जा सकेगा।