इंदौर में ट्रैफिक सिग्नल पर डांस करते लड़की का वीडियो हुआ वायरल, पुलिस ने कही यह बात

सोशल मीडिया पर वायरल (indore girl viral video) इस वीडियो को लेकर सवाल तो कई उठ रहे है लेकिन फिलहाल, ये वीडियो तेजी से ट्रेंड कर रहा है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। आजकल फेमस होने के लिए लोग कई तरह के हथकंडे अपनाते नजर आते हैं। जहां कहीं लोग लड़के से लड़की बन जाते हैं तो कहीं लोग कॉमेडी और डांस मूव्स दिखते नजर आते हैं और इन्ही वजहों से वो कुछ समय के लिए चर्चा का विषय बन जाते हैं। ऐसा ही कुछ इंदौर (Indore) में एक लड़की ने किया। जहां लड़की शहर के चौराहों पर नाचती नजर आई। वहीं जब लड़की ट्रैफिक सिग्नल पर अपने डांस मूव्स रिकॉर्ड कर रही थी तो लोग यह सोच रहे थे कि आखिर यह कर क्या रही है। वहीं जब यह वीडियो (video) सोशल मीडिया (social media) पर वायरल (Viral) हुआ तो अचानक वह लड़की और शहर का रसोमा चौराहा चर्चा में आ गया।

यह भी पढ़ें…Bhopal News: सिर्फ इस वजह से पति ने पत्नी की काटी नाक, पुलिस जांच में जुटी

दरअसल, इंदौर की ही एक युवती ने ये वीडियो बनाया है और दावा किया जा रहा है कि युवती माणिक बाग क्षेत्र की रहने वाली है। युवती ने वीडियो बनाने की शुरुआत रसोमा एंड से की और फिर अचानक वो अपना स्वीट वाले ट्रैफिक सिग्नल पर दौड़ती नजर आई और फिर जेब्रा क्रॉसिंग पर मास्क पहनकर डांस करने लगी। वीडियो से ये तो जाहिर हो रहा है कि जिस वक्त लड़की डांस कर रही थी उस वक्त रेड सिग्नल था लिहाजा, वाहन चालक कुछ देर के लिए सोच में पड़ गए और सोचा ये भी गया कि कही ये इंदौर ट्रैफिक पुलिस का कोई नया तरीका तो नहीं है।

हालांकि ट्रैफिक पुलिस के एक अधिकारी का बयान सामने आया है कि इस तरह से सड़क पर ट्रैफिक के बीच व्यवस्ततम चौराहे पर डांस करना लोगो के साथ ही डांसर को भी मुश्किलों में डाल सकता है। वहीं वीडियो वायरल होने के बाद सवाल ये भी उठ रहे है कि फेमस होने का ये तरीका कितना उचित है और क्या ये नियमों व कानून का उल्लंघन नहीं है ? क्योंकि बिना अनुमति के ये बिंदासपन किसी रेस्टोरेंट, पिकनिक स्पॉट या गार्डन में चल जाएगा लेकिन बीच सड़क पर बेधड़क डांसिंग क्वीन बनकर ऐसा सबकुछ करना कहा तक उचित है।

फिलहाल, सोशल मीडिया पर वायरल (indore girl viral video) इस वीडियो को लेकर सवाल तो कई उठ रहे है लेकिन फिलहाल, ये वीडियो तेजी से ट्रेंड कर रहा है।

यह भी पढ़ें… जबलपुर पुलिस ने गुम हुए 125 मोबाइल धारकों को लौटाए, 8 महीनों में ढूंढे 339 Phones