ममता की अराजक सरकार के खिलाफ विजयवर्गीय ने जन्मदिन के मौके पर दिया धरना।

 

 

इंदौर/आकाश धोलपुरे

इंदौर. देशभर में कोरोना संकट गहराया हुआ है और ये ही वजह है कि समूचे देश में लॉक डाउन का पालन कर केंद्र के हर निर्देश को राज्य सरकार गम्भीरता से पालन करने के लिए तत्तपर है लेकिन बीजेपी का आरोप है कि पश्चिम बंगाल कि ममता बैनर्जी सरकार अराजक होकर कोरोना की जंग लड़ रही है। इंदौर में तो बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय अपने जन्मदिन के अवसर पर टीएमसी की अराजकता के खिलाफ नन्दानगर नगर स्थित निवास पर बैठ गए। विजयवर्गीय का आरोप है कि ममता बैनर्जी सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण के चलते मृत हुए लोगो की लाशों को चुपचाप तरीके से जलाया व दफनाया जा रहा है वही मृतकों के परिजनों की इसकी सूचना भी नही दी जा रही है। यही नही केंद्र सरकार द्वारा भेजे दल के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा द्वारा सहयोग न करने का आरोप भी विजयवर्गीय में लगाया। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव ने बताया कि बंगाल से जुड़े सभी नेता व कार्यकर्ता आज बंगाल सरकार की अराजकता के खिलाफ अपने अपने घर पर धरने पर बैठे है। उन्होंने कहा बंगाल में स्थिति ठीक नही है लोगो की मदद के लिए निकल रहे बीजेपी कार्यकर्ताओ पर सरकार द्वारा कार्रवाई की जा रही है वही केंद्र द्वारा भेजी जा रही राशन सामग्री पर टीएमसी नेता राजनीति कर रहे है और उसे बेच रहे है। विजयवर्गीय ने धरने के माध्यम से राज्यपाल जगदीप धनखड़ और केंद्र सरकार से मुख्य सचिव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। साथ ही विजयवर्गीय ने केंद्र से ये भी मांग की है कि बंगाल में जारी अराजकता को लेकर कड़ी कार्रवाई करे।

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here