मौसम ने बदली करवट, कई जिलों में तेज हवा के साथ बारिश

इंदौर| मध्य प्रदेश में मौसम ने करवट बदली है| मानसून पूर्व की बारिश ने मालवा निमाड़ अंचल को फिर भिगो दिया है| मंगलवार रात और बुधवार को तेज हवा के साथ कई जगह बारिश हुई और आंधी चली| जिससे पेड़ और बिजली के खंभे गिर गए। आगर-मालवा के झलारा वेयर हाउस परिसर में खुले में रखा करीब 5 हजार बोरी गेहूं भीग गया। मंदसौर में दो लोगों के कुएं में गिरने से मौत हो गई।

मंदसौर, बाजखेड़ी, खेताखेड़ा सहित जिले के अन्य क्षेत्रों में आंधी के साथ झमाझम बारिश हुई। भानपुरा क्षेत्र में कुछ पेड़ उखड़ने की खबर है। यहां मंडी में रखी उपज भीग गई। वहीं आगर मंडी में नरवल और आगर सोसायटी के उपार्जन केंद्रों के साथ कृषि उपज मंडियों में खुले में रखा व्यापारियों का गेहूं भीगने की खबर है। जिले के 15 उपार्जन केंद्रों पर 2 लाख क्विंटल से अधिक गेहूं खुले में पड़ा है।

वहीं नीमच जिले के जराड़ में कच्चे मकानों की टीन की चद्दरें उड़ गईं। जनपद पंचायत कार्यालय में पुराना पेड़ गिर गया। रतनगढ़, मनासा, कुकड़ेश्वर, जीरन, जावद आदि क्षेत्रों में भी बारिश के समाचार हैं। जावद और जराड़ में विद्युत खंभे गिरने से विद्युत प्रदाय प्रभावित हुआ। बड़वानी जिले के पानसेमल और सेंधवा में जोरदार बारिश हुई। झाबुआ के पेटलावद क्षेत्र में मंगलवार देर शाम आंधी के साथ जोरदार बारिश हुई।