लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर क्या बोली सुमित्रा महाजन, देखें वीडियो

what-said-Sumitra-Mahajan-about-contesting-Lok-Sabha-elections-from-Indore-see-video

इंदौर।

लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर इंदौर सांसद और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने फिर से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है। वही उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने की अटकलों पर भी विराम लगा दिया है। सुमित्रा महाजन ने  कहा है कि अगर मैं बोलूंगी कि यह मेरा आखिरी साल है और यदि यमराज कहें कि आपको 10 साल और जीना है, तो यह मेरे हाथ में नहीं है। इसी तरह चुनाव लड़ने और नहीं लड़ने का निर्णय संगठन का होगा। मैं संगठन की एक कार्यकर्ता हूं और हमेशा रहूंगी। संगठन का हर निर्णय मुझे स्वीकार होगा।

    दरअसल, महाजन आज इंदौर में कबड्डी स्टेडियम के भूमिपूजन समारोह में शामिल होने पहुंची थी। जहां मीडिया से चर्चा के दौरान उन्होंने ये बातें कही। उन्होंने कहा कि 1989 में मैं संगठन के पास टिकट मांगने नहीं गई थी। संगठन के आदेश का पालन किया। यदि इस बार संगठन कहेगा तो पालन करूंगी। मैने कभी भी किसी पद की लालच नही रखी। साथ ही उन्होंने कहा मैने कभी नही कहा चुनाव नही लडूंगी या ये मेरा आखिरी चुनाव है।  संगठन तय करेगा कि उन्हें चुनाव लड़ना है या नहीं। जो संगठन का आदेश होगा मै उसका पालन करुंगी। वही उन्होंने प्रियंका गांधी की कांग्रेस में सक्रियता को लेकर कहा क कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को यह बात समझ में आ गई है कि इतने बड़े देश की राजनीति संभालना उनके अकेले की बस की बात नहीं है। इस कारण वे प्रियंका गांधी की मदद ले रहे हैं। इसलिए उन्होंने बहन प्रियंका समेत ज्योतिरादित्य सिंधिया को उत्तर प्रदेश में बड़ी जिम्मेदारी से नवाजा है। इससे बीजेपी को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला, क्योंकि बीजेपी लड़ने वाली पार्टी है और कई बड़े लोगों से लड़ी है।

बताते चले कि इंदौर लोकसभा सीट एक हाईप्रोफाइल सीटों में मानी जाती है। जिसके चलते अभी से इस सीट के उम्मीदवार को लेकर तरह तरह के कयास लगना शुरु हो गए है। वैसे सालों से इस सीट पर भाजपा का कब्जा है और सुमित्रा महाजन यहां से सांसद है।इस सीट से महाजन 1989 से लगातार चुनाव जीत रही हैं। अगर ताई  को इस बार भी टिकट मिला और वो जीतीं तो वे देश की पहली महिला सांसद होंगी जो लगातार 9 बार संसद पहुंचेगीं। हालांकि कांग्रेस उनके रिकॉर्ड को ध्वस्त करने की तैयारी में है। जिस तरह विधानसभा चुनाव में उसे लोकसभा क्षेत्र की आठ में से 4 सीटें मिलीं है उससे वो मुकाबले को बराबर का मान रही है। कांग्रेस का मानना है कि वचन पत्र के वादे पूरे करने का फायदा लोकसभा चुनाव में उसे मिलेगा।हाल ही में अभिनेता सलमान खान के भी इस सीट से चुनाव लड़ाने की मांग उठी थी, जिसे कांग्रेस ने खारिज कर दिया है।  हालांकि चर्चा ये भी है कि कैलाश विजयवर्गीय खुद चुनाव लड़ना चाहते हैं। ऐसी परिस्थिति से निपटने के लिए पार्टी ने रमेश मेंदौला का नया दांव चला था।बीते दिनों इस सीट को लेकर ताई और विजयवर्गीय में अंदरुनी खींचतान की भी बात सामने आई थी।