इंदौर में महिला की हत्या का पर्दाफाश, जनेऊ से गला घोंटकर की गई थी हत्या

महिला के किसी पुरुष के साथ अवैध शारिरिक संबंध थे ।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर के कनाड़िया थाना क्षेत्र के अंतर्गत बिचौली हप्सी में बुधवार सुबह एक महिला की लाश मिली। जिस जगह लाश मिली, वह सुनसान इलाका था। लाश के पास ही उसके घर का सामान भी मिला है। ऐसा माना जा रहा है कि किसी करीबी ने उसे मौत के घाट उतारा है।

यह भी पढ़े…MP Panchayat Election: शिवपुरी में विद्युत विभाग की हड़ताल से पंचायत चुनाव उम्मीदवारों की फजीहत

हम आपको बता दें कि मृतक महिला की पहचान भगवतीबाई बाई पति आशाराम मेवाड़े निवासी बड़वानी के रूप में की। और हाल ही में उसने विराट नगर इलाके में स्थित किराये के कमरे को खाली किया था। इसके बाद वो दो दिन पहले मूसाखेड़ी इलाके के एक मकान में रहने लगी। इसी के बाद अचानक उसका शव मिला जिसकी प्रारंभिक जाँच में पुलिस ने हत्या की आशंका जताई थी और पुलिस महिला के बेटों पर शक था।

यह भी पढ़े…MP Weather : तापमान में गिरावट से बढ़ेगी ठंड, 17 दिसंबर से शीतलहर चलने के आसार

पुलिस ने कनाड़िया के घटना स्थल के सीसीटीवी फुटेज चेक किये और उसके बाद जब कड़ी से कड़ी जोड़ी गई तो मामला सीधे महिला के नए किराये के घर तक पहुंचा। जिसके मकान मालिक दिनेश पिता हरप्रसाद मिश्रा से पूछताछ की गई तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ। दरअसल, दिनेश मिश्रा से महिला के अवैध शारिरिक संबंध बन गए थे और इसी के बाद महिला शादी के दबाव और खर्चा उठाने को लेकर उसे ब्लैकमेल कर रही थी। ऐसे में समाज मे बेइज्जती होने के डर से दिनेश मिश्रा ने आखिर में महिला की हत्या करने की ठान ली। इसके लिए उसने अपनी जनेऊ से पहले महिला का गला घोंटकर उसे मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद वो उसे लपेटकर बिचौली हप्सी के एक खेत के करीब ले गया जहां उसने उसके सिर और मुंह पर चोंट पहुंचाई ताकि उसकी पहचान न हो सके। हालांकि पुलिस को मौके से महिला का पहचान पत्र मिल गया था जिसके बाद पुलिस ने हर एंगल से जांच शुरू कर दी थी आखिर में नया मकान मालिक आरोपी निकला। बताया ये भी जा रहा है कि आरोपी दिनेश मिश्रा की पत्नि की मौत कोरोना के कारण हो गई थी और उसकी तीन बेटियां भी है ऐसे में महिला द्वारा बनाये जा रहे दबाव को वो सहन नही कर पाया और उसने उसकी हत्या कर दी।

यह भी पढ़े…ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की पार्थिव देह सेना के प्लेन से लाई गई भोपाल, अंतिम विदाई कल शुक्रवार को

इंदौर डीसीपी झोंन – 2 आशुतोष बागरी ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है वही पुलिस हत्या से जुड़े हर पहलू की बारीकी से जांच कर रही है। फिलहाल, इंदौर में एक बार फिर अंधे कत्ल का खुलासा कुछ घण्टो में हो गया है जिसकी वजह वो तीसरी आंख है जो हर चौक चौराहों को कवर अपराधियों को उनके सही अंजाम तक पहुंचाने में पुलिस की मदद कर रही है।