प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने पहुंचे युवा काँग्रेसियों में आपस में ही चले जमकर लात-घूंसे

इंदौर, डेस्क । मध्यप्रदेश में हमेशा गुटबाजी और आपसी विवादों को लेकर सुर्खियों में रहने वाली कांग्रेस पार्टी की यह खासियत सोमवार को इंदौर में एक बार फिर नजर आई, जहां बढ़ती बेरोजगारी और व्यापमं घोटाले की जांच की मांग को लेकर युवा कांग्रेस के हल्ला बोल कार्यक्रम में उन्होंने एक दूसरे पर ही हल्ला बोल दिया। इंदौर में भी युवा कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता कलेक्टर ऑफिस का घेराव करने पहुंचे थे। यहां उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ नारेबाजी की। लेकिन अचानक युवा कांग्रेसी आपस में ही भिड़ गए और देखते ही देखते एक दूसरे को मारने लगे, जमकर दोनों तरफ़ से लात घूंसे चले। मौके पर मौजूद पुलिस प्रदर्शन रोकने के लिए तैनात की गई थी लेकिन बाद में युवा काँग्रेसियों में चल रही मारपीट रोकती नजर आई। इस प्रदर्शन में युवक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल थे।

यह भी पढ़ें… चचेरे भाई-बहन के साथ खेल रही दो सगी बहनें टपरिया में जिंदा जली

दरअसल सोमवार को युवा कांग्रेस ने पूरे प्रदेश के अलग अलग जिलों में प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने का फैसला लिया था जिसके चलते भोपाल में भी प्रदर्शन किया गया वही इंदौर में इस प्रदर्शन में शामिल होने प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया पहुंचे, दोपहर को जब युवा कांग्रेस नेता समर्थकों के साथ कलेक्टर ऑफिस पर हल्ला बोल प्रदर्शन करने पहुंचे। हालांकि पुलिस ने इन्हे तय स्थान से पहले ही रोक लिया, इसी दौरान कार्यकर्ता जोरदार नारेबाजी करने लगे लेकिन अचानक ही प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ता आपस में ऐसे भिड़े कि जमकर एक गुट के कार्यकर्ता दूसरे गुट के कार्यकर्ताओं को पीटने लगे, मौके पर अफरा तफरी का माहौल बन गया। आपस में गुथम गुत्था काँग्रेसियों को पुलिस ने अलग अलग किया।  प्रदर्शन में मध्यप्रदेश युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया, इंदौर युवा कांग्रेस अध्यक्ष रमीज़ खान सहित कई कार्यकर्ता रैली के रूप में पहुंचे। हालांकि पुलिस ने एहतियात के तौर पर पहले ही बैरिकेडिंग कर रास्ते को बंद कर दिया था। इस दौरान विक्रांत भूरिया सहित कई कार्यकर्ता बैरिकेडिंग पर चढ़ गए और जमकर सीएम शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को पकड़कर जेल वाहन में भरना शुरू किया तो वहां अफरा तफरी का माहौल बन गया। पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। कांग्रेस का यह प्रदर्शन हालांकि आपसी विवाद के चलते ज्यादा सुर्खियों में रहा।