जबलपुर : सेना के अधिकारी ने दिव्यांग जूनियर इंजीनियर के साथ की मारपीट, जांच में जुटी पुलिस

एमईएस विभाग में पदस्थ जूनियर इंजीनियर अमेंद्र सिंह के साथ हुई मारपीट की खबर जैसे ही उनके संबंधित अधिकारियों की लगी, तो वह भी कैंट थाने पहुंच गए।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में शनिवार की देर रात सेना के कोबरा केंटिन स्थित राबर्ट बैरिक में उस वक्त हड़कंप मच गया जब सेना में पदस्थ सूबेदार ने अपने कुछ जवानों के साथ मिलकर दिव्यांग जूनियर इंजीनियर के साथ जमकर मारपीट कर उसे घायल कर दिया। पीड़ित जूनियर इंजीनियर रक्षा मंत्रालय के MES विभाग में पदस्थ है। अपने साथ हुई मारपीट की वारदात को एमईएस के दिव्यांग जूनियर इंजीनियर ने केंट थाने में दर्ज करवाई।

दिव्यांग जूनियर इंजीनियर के साथ हुई मारपीट

केंट पुलिस ने बताया कि एमईएस के दिव्यांग जूनियर इंजीनियर अमेंद्र सिंह जब कोबरा केंटिन के पीछे राबर्ट बैरिक में पाइप लाइन का कुछ काम करने गया था, तब वहां मौजूद सूबेदार योगेश सिंह ने उनका नाम पता और परिचय पत्र पूछा, तो उसके द्वारा बताया गया कि वह एमईएस में जूनियर इंजीनियर के पद पर कार्यरत है। बेरिक में पाइप लाइन को ठीक करने के काम से आया है। इतना सुनते ही सूबेदार योगेश सिंह आक्रोशित हो गए और अभद्र व्यवहार करते हुए अपने जवानों के साथ मिलकर मारपीट करना शुरू कर दिया।

मारपीट की सूचना के बाद एमईएस विभाग के अधिकारी भी पहुंच गए थाने

एमईएस विभाग में पदस्थ जूनियर इंजीनियर सिंह के साथ की मारपीट की खबर जैसे ही उनके संबंधित अधिकारियों की लगी, तो वह भी कैंट थाने पहुंच गए। साथ ही सेना में पदस्थ सूबेदार योगेश सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई।अपनी शिकायत में अमरेंद्र सिंह ने पुलिस को बताया कि उसके साथ ना सिर्फ मारपीट की गई, बल्कि उसकी दिव्यांगता का भी मजाक उड़ाया गया। दिव्यांग जूनियर इंजीनियर अमेंद्र सिंह ने पुलिस को बताया कि सेना के जवानों ने उनके साथ बुरा बर्ताव भी किया। गालियां देकर अपमानित भी किया। फिलहाल शिकायत के बाद कैंट थाना पुलिस ने जूनियर इंजीनियर के मामले को दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here