बाल सुधार गृह से गेट कूदकर भागे 2 बच्चे, मचा हड़कंप, मीडिया को कवरेज से रोका

जबलपुर। संदीप कुमार।

गोकलपुर बाल सुधार गृह से आज फिर एक बार बच्चे भागने में कामयाब हुए है। दोनों ही बच्चे करीब 1 साल से बाल सुधार गृह में थे।फरार हुआ एक बच्चा मंडला जिले का रहने वाला है जबकि दूसरा जबलपुर का है। मंडला निवासी बच्चा रेप के मामले में बाल सुधार गृह में था जबकि दूसरा बच्चा छेड़खानी करने के चलते उसे बाल सुधार गृह में रखा गया था। आज सुबह जब बाल सुधार गृह का कर्मचारी दोनों बच्चों से बगीचे का काम करवाने के लिए उन्हें बाहर लाया था तभी कर्मचारी को चकमा देकर दोनों बच्चे गेट कूदकर भाग गए। कर्मचारी ने करीब आधा किलोमीटर तक दोनों बच्चों का पीछा भी किया पर बच्चे उनके हाथ नहीं लगे। इधर सूचना मिलने के बाद जब मीडिया कर्मी कवरेज करने बाल सुधार गृह पहुंचा तो वहां पर पदस्थ अधीक्षका ने ना सिर्फ मीडिया कर्मियों को कवरेज करने से रोका बल्कि उनसे अभद्रता भी की। बाल सुधार गृह में पदस्थ अधीक्षका सविता एडे इससे पहले भी अपने कार्य को लेकर विवादों में रही है। तत्कालीन बाल सुधार गृह के अध्यक्ष मनीष मिश्रा ने जिसकी शिकायत संभाग कमिश्नर से भी थी।फिलहाल बाल सुधार गृह गोकलपुर में लगातार बच्चों के भागने के मामले सामने आ रहे हैं।बाल सुधार गृह अधीक्षका ने रांझी थाने में दोनों बच्चों के भागने की शिकायत की है जिसके बाद अब पुलिस और बाल सुधार गृह के कर्मचारी बच्चों को तलाश करने में जुटे हुए हैं।साथ ही दोनों बच्चों के परिजनों को भी सूचना दे दी गई है।