बिना काम मोटी तन्खा लेने वालों पर गिरेगी गाज, स्वास्थ्य विभाग के 21 कर्मचारी चिन्हित

जबलपुर| जबलपुर में अपने रसूख के दम पर सरकारी नोकरी से खिलवाड़ करने वालो को खिलाफ कलेक्टर ने सख्ती बरती है। कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के ऐसे 21 कर्मचारियों को चिन्हित किया है जिन्होंने रसूख के बाद मनचाही पदस्थापना पा ली थी और बिना काम किये ही महीनों से मोटी तन्ख्या ले रहे थे। कलेक्टर भरत यादव के निर्देश पर मूख्य चिकित्सा अधिकारी मनीष मिश्रा ने नर्सिंग स्टाफ व एएनएम के 21 लोगो को चिन्हित कर नोटिस सौपा है। 

माना जा रहा है कि अपनी नोकरी में लापरवाही और रसूख का इस्तेमाल करने वालो की सर्विस ब्रेक भी हो सकती है।बताया जा रहा है कि पोलिपाथर में स्टाफ नर्स के 2 पद स्वीकृत है जबकि अपने रसूख के चलते यहाँ पर 5 नर्सो ने पोस्टिंग करा रखी थी।अतिरिक्त 3 नर्सो के पास कोई काम न होने के चलते ये न ही काम करती थी और न ही समय पर स्वास्थ्य केंद्र आती थी।इसी तरह शहर के अन्य केंद्रों में ऐसी 21 स्टाफ नर्स व एएनएम का पता चला है जिनकी अतिरिक्त पदस्थापना थी।हाल ही में प्रसव कार्य प्रभावित होने की जानकारी जब सीएमएचओ को लगी तो उन्होंने नर्से व एएनएम की नई जगह पोस्टिंग की फिर भी किसी ने भी अपनी जवाईनइंग नही दी।लिहाज़ा कलेक्टर भरत यादव को अब इसकी रिपोर्ट दी गई है।माना जा रहा है कि अब ऐसे नर्से और एएनएम की सर्विस ब्रेक करने की तैयारी की जा रही है।