3 माह में 22 गर्भस्थ शिशुओं की मौत, संभागायुक्त ने तलब की रिपोर्ट

जबलपुर|  संभाग के सबसे बड़े रानी दुर्गावती लेडी एल्गिन हॉस्पिटल में बीते 3 माह में डिलेवरी के दौरान 22 गर्भस्थ शिशुओं की मौत होने की बात सामने आई है|  यही वजह है कि जबलपुर संभाग के कमिश्नर ने भी रिपोर्ट तलब की है। 

जानकारी के मुताबिक लेडी एल्गिन अस्पताल में बीते 2 माह में 54 मृत शिशुओं का जन्म हुआ लेकिन इनमें से 22 शिशु ऐसे थे जिनकी धड़कने डिलेवरी से पहले चल रही थीं।अस्पताल में गर्भस्थ शिशुओं की मौत के इस आंकड़े को प्रशासन ने गंभीरता से लिया है और मामले की जांच के आदेश भी दिए हैं।इलाज में लापरवाही की आशंका के मद्देनज़र और बच्चों की मौत का सही कारण जानने के लिए जबलपुर संभागायुक्त राजेश बहुगुणा ने भी अस्पताल प्रबंधन से इस मामले की रिपोर्ट तलब की है।इधर इस मामले में अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि इसके पीछे डॉक्टर्स की कोई लापरवाही नहीं है बल्कि ऐसी मौतों के पीछे गर्भवती महिलाओं के कमज़ोर होने और उनके परिजनों द्वारा ऑपरेशन की अनुमति देर से दिए जाने की वजह हो सकती है लेकिन संभागायुक्त के निर्देश पर घटनाओं की जांच शुरु कर दी गई है।अस्पताल प्रबंधन की माने तो उनके पास अस्पताल में होने वाली हर डिलेवरी के डेटा और उनकी केस हिस्ट्री भी मौजूद है जिनके मद्देनज़र गर्भस्थ शिशुओं की मौत की जांच भी करवाई जाएगी और अगर कोई कमी पाई जाती है तो उसे दूर भी किया जाएगा।