पश्चिम मध्य जोन के 25 फुट ओवर ब्रिज खतरनाक,भोपाल हादसे के बाद हुई जांच में हुआ खुलासा

जबलपुर।संदीप कुमार।

पश्चिम मध्य रेल्वे के जनरल मैनेजर शेलेन्द्र सिंह आज पहली बार मीडिया से मुखातिब हुए इस दौरान उन्होंने तीन मंडल जबलपुर,भोपाल और कोटा में किये गए विकास और यात्री सुविधाओं को लेकर विस्तृत जानकारी दी।यात्री ट्रेनों की स्पीड बढ़ाये जाने पर उन्होंने कहा कि 130 किलोमीटर की स्पीड पर एलबीएच कोच को चलाने के लिए तेजी से काम चल रहा है।इधर हाल ही में भोपाल रेल्वे स्टेशन में फुट ओवर ब्रिज के स्लैब गिरने की घटना को उन्होंने दुखद माना है। पमरे के जीएम ने घटना को दुखद बताते हुए कहा कि इस घटना की रिपोर्ट आ गई है।अब भविष्य में इस तरह की घटना न हो इसके लिए भी निर्देश दिये गए हैं। साथ ही सभी ब्रिजों को चेक भी करवाया गया है।

जांच के दौरान करीब 25 फुट ओवर ब्रिज जर्जर पाए गए है जिनको ठीक भी करवाया गया है।जीएम शेलेन्द्र सिंह की माने तो यात्रियों की सुरक्षा के साथ किसी भी प्रकार का समझौता नही किया जाएगा और जॉन में जितने भी फुट ओवर ब्रिज है उसकी बारीकी से जांच भी करवाई जा रही है। रेल विद्युतीकरण को लेकर जीएम शैलेंद्र सिंह ने कहा कि 2000 किलोमीटर का रेल विद्युतीकरण 18 माह में पूरा कर लिया जाएगा। वही रेलवे कंजक्शन को देखते हुए इटारसी,कटनी,बीना में फ्लाईओवर बनाने की दिशा में काम भी चल रहा है।

पश्चिम रेलवे 854 ट्रेनों का संचालन कर रहा है इनमें 19 नई गाड़ी,3 स्पेशल ट्रेन है।वही उन्होंने बताया कि 50 नए स्टेशनों में गाड़ियों का ठहराव के साथ 14 गाड़ियों में एचबी कोच लगाए गए हैं।जीएम ने बताया कि हबीबगंज रेलवे स्टेशन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाया जाएगा जहां पर की एयरपोर्ट की तरह सुविधाएं यात्रियों को मुहैया करवाई जाएगी।