8 साल की बच्ची ने किया मां का अंतिम संस्कार, माता-पिता को खोने के बाद हुई बेआसरा

जबलपुर/संदीप कुमार

पापा पहले ही हमे छोड़ कर चले गए थे, उसके बाद सहारा था माँ का लेकिन अब वो भी इस नन्ही बच्ची को छोड़कर चली गई। जबलपुर के गढ़ा मे रहने वाली 8 साल की इस मासूम की माँ की का बीमारी के बाद निधन हो गया। बच्ची की इस हालत को देख पूरा मोहल्ला गमगीन है।

8 साल की मासूम अपनी माँ के साथ रहती थी अकेली
गढ़ा स्थित त्रिपुरी चौक में रहने वाली पार्वती ठाकुर का मंगलवार को बीमारी के बाद निधन हो गया। पार्वती के पति का कुछ साल पहले निधन हो गया था। उसके बाद से वह एक नर्स के यहाँ रहकर उनके बच्चो के साथ साथ अपनी बच्ची की भी देखरेख करती थी।

दो दिन पहले अचानक पार्वती की बिगड़ी तबियत
बताया जा रहा है मेडिकल कॉलेज में पदस्थ एक स्टाफ नर्स के यहाँ पार्वती ठाकुर काम किया करती थी। तीन दिन पहले उसकी अचानक उसकी तबियत बिगड़ी जिसके बाद उसे लेने के लिए 108 घर पहुँची जहाँ से उसे मेडिकल कॉलेज में लाया गया। लेकिन उसे भर्ती न कर सिर्फ प्राथमिक उपचार देकर वापस घर भेज दिया गया।

मोक्ष ने करवाया बच्ची से अंतिम संस्कार
8 साल की मासूम को इतना भी नही पता था कि वो क्या कर रही है। मोक्ष संस्था ने बच्ची के हाथों उसकी माँ का अंतिम संस्कार करवाया। फिर उसके रहने के लिए जिला प्रशासन से बात भी की पर अभी तक कहीं से भी कोई व्यवस्था नहीं हुई है। फिलहाल बच्ची अभी मोक्ष संस्था के पास है उसके रहने के लिए बाल निकेतन से बात की जा रही है।

मृतका का सेम्पल जांच के लिए भेजा
मृतक पार्वती ठाकुर को सर्दी खासी की शिकायत थी लिहाजा उसके सेम्पल को जाँच के लिए आईसीएमआर भेजा गया है।अगर पार्वती की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आती है तो उसकी 8 साल की बच्ची को भी क्वारेंटाइन किया जाएगा।