क्या भाजपा की अंतर्कलह के कारण अचानक हुआ कलेक्टर का तबादला

जबलपुर, संदीप कुमार
जबलपुर में भारतीय जनता पार्टी के बीच मचे अंतर्कलह में प्रशासनिक अधिकारी की कुर्सी चली गई।नेताओ की पसन्द बनने के बावजूद जबलपुर में कलेक्टर का चेहरा बदल दिया गया। भाजपा में चल रही अंतर्कलह इस कदर बढ़ गई कि प्रदेश अध्यक्ष को इसमे दखल देना पड़ा शायद यही वजह है कि उनकी लोकसभा के एक छोटे से जिले के कलेक्टर को जबलपुर का नया कलेक्टर नियुक्त किया गया।भाजपा में मची अंदरूनी सियासत के बीच हुए कलेक्टर के तबादले को कांग्रेस ने राजनीति का शिकार बताया है तो वही भाजपा का कहना है की कलेक्टर का तबादला रूटीन प्रक्रिया है।

अचानक हटाए गए कलेक्टर भरत यादव
कोरोना काल के बीच जबलपुर में प्रशासनिक नजरिये से सब कुछ ठीक चल रहा था।निवर्तमान कलेक्टर भरत यादव ने काफी हद तक कोरोना में नियंत्रण भी किया उनके कामो को जनता सराह भी रही थी इसी बीच कुछ भाजपाइयों की अंतर्कलह सामने आने लगी। एक गुट में पूर्व मंत्रियों के साथ ग्रामीण के विधायक में तो दूसरे गुट में बाकी बचे जिले के जनप्रतिनिधि और संगठन पदाधिकारी| पिछले दिनों कलेक्टर से मिलने एक गुट भी पहुंचा था जिसके बाद पार्टी के भीतर की गुटबाजी उजागर हो गई सूत्रों की माने तो संगठन मंत्री भी एक दिन पहले भोपाल गए थे जहां उन्होंने शहर के हालात पर तुझे संगठन के साथ चर्चा की इसी बीच शुक्रवार को प्रशासनिक फेरबदल किया गया| जिसमें जबलपुर कलेक्टर भरत यादव को हटाते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की लोकसभा मैं पदस्थ पन्ना कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को जबलपुर कलेक्टर की कुर्ती थमाई गई|

कांग्रेस ने बताया गलत समय हुआ कलेक्टर का तबादला
निवर्तमान कलेक्टर भरत यादव के ट्रांसफर से कांग्रेस खफा है।कांग्रेस प्रदेश महासचिव सौरभ शर्मा ने भाजपा की अंतर्कलह को भरत यादव का ट्रांसफर होना बताया है।प्रदेश महासचिव का कहना है कि कोरोना काल मे जब लोग घरों के अंदर थे उस समय भरत यादव शहरों की सड़कों पर घूम घूमकर लोगो को घरों में रहने की सलाह दे रहे थे।कोरोना के बीच कितने त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से निपट गए पर भाजपा की घृणित राजनीति के बीच जिस तरह से भरत यादव को हटाया है उसका खामियाजा भाजपा,कांग्रेस सहित शहरवासियों को उठाना पड़ेगा।

भाजपा में नही है कही भी अंतर्कलह
कलेक्टर भरत यादव के अचनाक हुए तबादले को जहाँ कांग्रेस ने भाजपा की अंतर्कलह का परिणाम बताया है तो वही भाजपा अब अपनी अंदरूनी सियासत को छिपाने में जुट गई है।भाजपा नगर अध्यक्ष जीएस ठाकुर का कहना है कि पार्टी में कही कोई अंतर्कलह नही है हर घर मे मतभेद होते है उसको लेकर कांग्रेस का इस तरह से आरोप लगाना पूरी तरह से गलत है।भरत यादव एक अच्छे कलेक्टर है और उनका तबादला एक सामान्य प्रक्रिया के तहत किया गया है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष की लोकसभा से आए नए कलेक्टर
निवर्तमान कलेक्टर भरत यादव को हाउसिंग बोर्ड का आयुक्त बनाया गया है जबकि पन्ना कलेक्टर रहे कर्मवीर शर्मा को जबलपुर कलेक्टर की कमान सौपी गई है।पन्ना जिला भाजपा प्रदेशाध्यक्ष बी.ड़ी शर्मा की लोकसभा में आता है।कहा जा सकता है कि गुटबाजी में बदलाव की ये आंधी आई और भरत यादव को ले उड़ी