लॉकडाउन के बीच देखिये नन्हे कवि दिव्यांश का कविता पाठ

जबलपुर| देश में लागू लॉकडाउन के बीच लोगों को अपने अंदर छिपी प्रतिभा को बाहर लाने का मौक़ा मिला है| इसमें सिर्फ बड़े ही नहीं बल्कि बच्चे भी आगे हैं| जबलपुर के DPS स्कूल में पढ़ने वाले दिव्यांश कुशवाहा ने अपने दादाजी, जो जाने माने कवि-साहित्यकार हैं, उनकी लिखी बाल कविता पढ़ी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है| कविता शीर्षक है ‘मुट्ठी में आकाश है’

दिव्यांश के दादाजी सुरेश तन्मय वरिष्ठ कवि-कहानीकार हैं और उनकी लिखी लघुकथा महाराष्ट्र पाठ्यक्रम की कक्षा 9वीं में पढ़ाई भी जा रही है। अपने दादाजी के नक्शे कदम पर चलते हुए दिव्यांश भी खूब तुकबंदी करते हैं और दादाजी की कविताओं का पाठ भी करते हैं।