Jabalpur News : जबलपुर मेडिकल यूनिवर्सिटी में एबीवीपी का प्रदर्शन, गुस्साए छात्रों ने की तोड़फोड़

Jabalpur Medical University ABVP Protest : जबलपुर का मेडिकल विश्वविद्यालय छात्र आंदोलनों और छात्र संगठनों की जोर आजमाइश के अखाड़े में तब्दील होता जा रहा है। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े पदाधिकारियों ने सैकड़ों छात्रों के साथ मेडिकल विश्वविद्यालय पहुंचकर जमकर हंगामा मचाया। तीखी नारेबाजी के बीच प्रदर्शनकारियों ने कुलपति कार्यालय में भी उपद्रव करते हुए तोड़फोड़ मचा दी। नारेबाजी करते हुए मेडिकल विश्वविद्यालय पहुंचे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं और मेडिकल छात्रों ने काफी देर तक प्रदर्शन किया और कुलपति के चेंबर में जबरन घुसकर तोड़फोड़ शुरू कर दी।

मांगों को लेकर की आवाज बुलंद

दरअसल, प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि विश्वविद्यालय के द्वारा पिछले सत्र की परीक्षाओं से लेकर सप्लीमेंट्री एग्जाम के रिजल्ट अब तक घोषित नहीं किए गए हैं यहां तक कि छात्रों से जुड़ी समस्याओं को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन उदासीन बना हुआ है जिससे न केवल उनकी पढ़ाई प्रभावित हो रही है बल्कि उनका कैरियर भी दांव पर लग गया है। एमबीबीएस पैरामेडिकल, आयुष, बीएएमएस, और बीएचएमएस से जुड़े छात्रों ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर कुलपति से चर्चा की और जल्द से जल्द मांगों के निराकरण की आवाज बुलंद की।

विश्वविद्यालय में की गई भारी पुलिस बल की भी तैनाती

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेताओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर एक सप्ताह के भीतर छात्रों की समस्याओं पर गौर नहीं किया गया तो वे अपने आंदोलन को और उग्र रूप देंगे। मेडिकल विश्वविद्यालय में हुए उग्र प्रदर्शन और तोड़फोड़ के मामले में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेता पल्ला झाड़ते हुए तोड़फोड़ का ठीकरा विश्वविद्यालय के ही कर्मचारियों के सिर मढ़ते नज़र आ रहे हैं। छात्रों के आंदोलन को देखते हुए विश्वविद्यालय में भारी पुलिस बल की भी तैनाती की गई, बावजूद इसके प्रदर्शनकारियों ने कुलपति कक्ष में घुसकर न केवल हंगामा मचाया बल्कि तोड़फोड़ भी कर दी। इस पूरे मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन का दावा है कि छात्रों की समस्याओं का तेजी से निराकरण किया जा रहा है यही वजह है कि 1 साल में होने वाले कामों को पिछले 3 माह में पूरा कर छात्रों को राहत दी जा रही है।
जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट