जबलपुर के स्कूल में एबीवीपी का हंगामा, छात्रों से छीने पेपर, सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस

एबीवीपी

जबलपुर, संदीप कुमार। बुधवार को जबलपुर (Jabalpur ) के महर्षि स्कूल (Maharishi School) में उस वक्त हंगामा मच गया जब अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद- एबीवीपी(ABVP) के दो दर्जन से ज्यादा कार्यकर्ताओ ने स्कूल के अंदर घुसकर जमकर हंगामा किया। एबीवीपी ने महर्षि स्कूल प्रबंधन पर कोरोना गाइ़डलाइन (Corona Guideline) का उल्लंघन करते हुए स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) से अपील की है कि उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए।

यह भी पढ़े.. मप्र निकाय चुनाव से पहले शिवराज सरकार ने चला बड़ा मास्टर स्ट्रोक, सियासी हलचल तेज

एबीवीपी ने महर्षि विद्या मंदिर स्कूल पर आरोप लगाया है कि कोरोना संक्रमण (Coronavirus) होने के बावजूद प्रबंधन ने MP Board की 10वीं और 12वीं कक्षा की प्री बोर्ड परीक्षा (10th and 12th Pre Board Exam) के लिए छात्रों (Student) को बुलवाया। इतना ही नहींं करीब 500 से ज्यादा छात्र स्कूल परिसर में भीड़ बनाकर बैठे रहे और परीक्षा उनकी चलती रही, जिसका की ABVP ने विरोध किया और परीक्षा (Exam 2021) बन्द करवा दी।

छात्रों की जान से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद  के कार्यकर्ताओं ने कहा कि जिस तरह से जबलपुर में दिन-प्रतिदिन कोरोना संक्रमण बढ़ते देख हालात बिगड़ रहे हैं उसके बावजूद भी स्कूल प्रबंधन ने कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाते हुए सैकड़ों छात्र-छात्राओं को परीक्षा के लिए स्कूल बुलवाया। उन्होंने कहा कि स्कूल प्रबंधन छात्र-छात्राओं की जान के साथ खिलवाड़ कर रहा है जिसे की एबीवीपी किसी भी कीमत में बर्दाश्त नहीं करेगा।

सूचना पर पुलिस और शिक्षा विभाग के अधिकारी पहुँचे

एबीवीपी के कार्यकर्ता महर्षि विद्या मंदिर स्कूल में परीक्षा को लेकर हंगामा कर रहे हैं, यह सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची थाना पुलिस (Jabalpur Police) और शिक्षा विभाग के आला अधिकारी पहुंच गए। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने भी देखा कि स्कूल प्रबंधन कोरोनावायरस की गाइडलाइन का पालन करते हुए बिना प्रशासन की सूचना के बच्चों से परीक्षा ले रहा है ।

एबीवीपी ने छीन लिए छात्रों से परीक्षा-पेपर

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता कक्षाओं के अंदर घुस गए और चल रही प्री बोर्ड परीक्षा पेपर छात्र-छात्राओं के हाथ से छीन लिए, इस दौरान महिला शिक्षकों से एबीवीपी कार्यकर्ताओ की कहासुनी भी हुई।वही संकुल प्राचार्य ने अपनी पूरी रिपोर्ट बनाकर जिला शिक्षा अधिकारी को सौंपी है, जिसके बाद अब आगे की कार्यवाही जिला शिक्षा अधिकारी करेंगे।