आदिवासी बाहुल्य इलाको में कोरोना की दस्तक से प्रशासन परेशान

जबलपुर। संदीप कुमार।
जबलपुर जिले के बाद अब संभाग के अन्य जिलों में भी कोरोना ने दस्तक दे दी है।हाल ही के दिनों में संभाग के डिंडोरी-मंडला-बालाघाट-सिवनी में तेजी से कोरोना के केस मिले है जिसको लेकर राज्य सरकार और प्रशासन चिंतित है।संभाग में अचानक से कोरोना के केसों की संख्या के पीछे प्रवासी मजदूरों को बताया जा रहा है।

प्रवासी मजदूर है कोरोना संक्रमण की वजह……
संभाग कमिश्नर महेशचंद्र चौधरी ने बताया कि हाल ही में डिंडोरी-मंडला और बालाघाट में जो कोरोना के केस बढे है उसकी वजह है प्रवाशी मजदूर।संभाग के सिर्फ बालाघाट में ही एक लाख से ज्यादा लोग आए हुए है इसी तरह मंडला में 40 से 45 हजार,डिंडोरी में 55 हजार मजदूर बाहर से आए है।संभाग कमिश्नर ने बताया कि बड़ी संख्या में आदिवासी वर्ग के लोग जो कि दूसरे राज्यो में रहते थे और अब वो अपने अपने घर आ रहे है तो कोरोना के केस भी बढ़ रहे है।

श्रमिक वर्ग के लोग अपने साथ ला रहे है संक्रमण…..
संभाग कमिश्नर महेशचंद्र चौधरी ने बताया कि सैम्पलों के आधार पर ये पता चला है कि जो श्रमिक वर्ग के लोग है उन्होंने ही दक्षिण भारत से,महाराष्ट्र से एवं अन्य राज्यों से संक्रमण लेकर आए है।ऐसे में अब प्रशासन के सामने बड़ी चुनोती है कि संक्रमण को रोका जाए जो लोग बाहर से आ रहे है उन्हें कवारेंटाईन किया जाए जिसके लिए कलेक्टरों को निर्देश भी दिए गए है।

आदिवासी बाहुल्य जिलो में मास्क नही पंसद कर रहे है लोग ये प्रशासन के सामने बड़ी चुनोती….
संभाग कमिश्नर महेशचंद्र चौधरी ने बताया कि आदिवासी बाहुल्य जिलो की ये भी एक समस्या है कि वहाँ पर रहने वाले लोग न ही मास्क पहनना पसंद करते है और न ही सोशल डिस्टेन्स बनाकर रखना है इसके लिए अब स्थानीय प्रशासन अदिवासी लोगो को जागरूक करेगा और जरूरत पड़ी तो कार्यवाही भी की जाएगी क्योकि किसी भी कीमत में अब कोरोना के केसों को बढ़ने नही देना है।

इन जिलों में आए है प्रवासी मजदूर.…
जिले………
बालाघाट…..एक लाख से ज्यादा श्रमिक लौटे…

डिंडोरी….55 हजार मजदूर लौटे…

मंडला……..45 से 50 हजार…

नरसिंहपुर…..40 हजार मजदूर लौटे….

छिंदवाड़ा…… करीब 40 से 45 हजार…..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here