नाराज विश्नोई ने पार्टी कार्यक्रमों से बनाई दूरी, कार्यकर्ता कर रहे मंत्री बनाने की मांग

जबलपुर| संदीप कुमार| प्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में आए कांग्रेस को 15 माह बाद ही सत्ता छोड़नी पड़ी ऐसे में भाजपा जहाँ दोबारा सत्ता पाकर खुश है, लेकिन भाजपा की इस खुशी में उनके विधायक ही रोड़ा बन रहे है। मंत्री पद के प्रबल दावेदार पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने नाराज होकर पार्टी के कार्यक्रमो से दूरी बना ली है| इतना ही नही उनके आए दिन के ट्वीट से पार्टी भी परेशान है| आज पाटन विधानसभा के कार्यकर्ता ने अजय विश्नोई को मंत्री बनाने के लिए कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम एक पत्र सौपा। हालांकि इस बीच पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह का कहना है कि कही कोई नाराजगी नही है।

पार्टी कार्यक्रमों से पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने बना ली है दूरियां
मंत्रिमंडल विस्तार में जब पूर्व मंत्री अजय विश्नोई का नाम नहीं आया तो उन्होंने पार्टी के हर कार्यक्रम से दूरियां बनानी शुरू कर दी। हाल ही में राकेश सिंह के एक कार्यक्रम में भी वह अनुपस्थित रहे। वही आए दिन किए जा रहे ट्वीट के भी कई मायने निकाले जा रहे है।

अजय विश्नोई को मंत्री बनाए जाने को लेकर कार्यकर्ताओ ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
पाटन विधानसभा से विधायक पूर्व अजय विश्नोई महाकौशल से मंत्री पद के लिए प्रबल दावेदार थे।पर जब मंत्री बनाए गए तो उस लिस्ट में अजय विश्नोई का नाम गायब था। अजय विश्नोई को मंत्री बनाए जाने के लिए ग्रमीण कार्यकर्ताओ ने कलेक्ट्रेड को घेरा और मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को पत्र सौपा।मंझौली-पाटन से आए कार्यकर्ताओं की मांग है कि महाकौशल से अजय विश्नोई को मंत्री बनाना बहुत जरूरी है उनके मंत्री रहते न सिर्फ जबलपुर बल्कि समूचे महाकौशल का विकास होता है।अजय विश्नोई को मंत्री न बनाए जाने पर कार्यकर्ताओं ने अपनी नाराजगी भी जाहिर की है।कार्यकर्ताओ का कहना है जब वह मंत्री थे तो क्षेत्र का बहुत विकास हुआ है।अजय विश्नोई को मंत्री न बनाए जाने से नाराज कार्यकर्ताओ ने अपना अगला कदम मुख्यमंत्री से मिलने का बनाया है।

अजय विश्नोई की नाराजगी पर बोले राकेश सिंह-कही कोई नही है नाराज 
अजय विश्नोई केपार्टी के कई कार्यक्रमो से दूरी बनाना-ट्वीट करना भाजपा के लिए कही मुश्किल न खडी कर दे।अजय विश्नोई की नाराजगी पर पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह का कहना है कि कही कोई नाराजगी नही है सभी लोग मिलकर उपचुनाव में जुटे हुए और शिवराज सिंह के नेतृत्व में सभी सीटे भाजपा जीतेंगी|

अभी विधानसभा अध्यक्ष का पद है खाली 
जिस तरह से पार्टी के कार्यक्रमो से पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने दूरिया बना ली है उनके बाद उन्हें मनाने के लिए हो सकता है कि उन्हें विधानसभा अध्यक्ष बना दिया जाए पर उनके इस पद के बीच भी पूर्व मंत्री राजेन्द्र शुक्ल आ रहे है।बहरहाल अजय विश्नोई की नाराजगी के बाद अब भाजपा के वरिष्ठ नेता भी बैकफुट में आ गए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here