जबलपुर/संदीप कुमार

कोरोना वायरस के कारण लगे लॉक डाउन ने ढाई माह के लिए विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भेड़ाघाट को भी पूरी तरह से लॉक कर दिया था। मंगलवार को करीब ढाई महीने बाद पर्यटन स्थल भेड़ाघाट गुलजार हुआ है। हालांकि शुरुआत में पर्यटकों की भीड़ जरूर कम है पर जैसे जैसे लोगो को पता चल रहा है वैसे वैसे उनके आने का सिलसिला भी शुरू हो गया है।

दुकानें हुई गुलजार
लॉक डाउन के चलते विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल भेड़ाघाट में जहां पर्यटकों के ना आने के कारण सन्नाटा पसरा हुआ था, वहीं स्थानीय लोगों का व्यापार भी पूरी तरह से ठप हो गया था। ऐसे में अब लॉक खोलने के बाद भेड़ाघाट तो गुलजार हो ही गया है साथ ही सूनी पड़ी दुकानें भी आबाद हो गई हैं। भेड़ाघाट का बाजार फिर से सज गया है और पर्यटकों की खरीदारी भी शुरू हो गई है। हालांकि शुरुआत में पर्यटकों की संख्या जरूर कम है पर जल्द ही यहां पर वही भीड़ देखने लगेगी जो कि पहले दिखा करती थी।

नौका विहार के लिये अभी करना होगा इंतजार
इंतजार लॉक डाउन खोलने के बाद भले ही पर्यटकों के आने का सिलसिला में शुरू हो गया हो पर अगर आप घूमने आ रहे हैं तो नौका विहार के लिए थोड़ा और इंतजार करना होगा। अभी जिला प्रशासन ने नौका चलाने के लिए अनुमति नहीं दी है और इसके लिये कुछ और इंतजार बाकी है।

नगर पंचायत भेड़ाघाट को राजस्व का खासा नुकसान
कोरोना वायरस के कारण लगे लॉक डाउन ने पूरे देश की आर्थिक व्यवस्था की डगमगा दिया है। इसी आर्थिक नुकसान को नगर पंचायत भेड़ाघाट भी झेल रहा है। ढाई माह के लॉक डाउन ने नगर पंचायत भेड़ाघाट की भी आर्थिक क्षति पहुँचाई है। मार्च से मई तक नगर पंचायत भेड़ाघाट को पर्यटकों के आने से अच्छा खासा राजस्व मिलता था पर इस बार लॉक डाउन ने भेड़ाघाट नगर पंचायत की भी आर्थिक व्यवस्था बिगाड़कर रख दी है।