भोपाल गैंगरेप के आरोपियों को किया रेल यूनियन से बाहर, वेस्ट सेंट्रल रेल्वे मजदूर संघ ने लिया फैसला

भोपाल में युवती को नौकरी का झासा देकर दूष्कर्म करने वाले आरोपी राजेश तिवारी और आलोक मालवीय को यूनियन ने बर्खास्त कर दिया है।

Gangrape bhopal railway station

जबलपुर,संदीप कुमार। राजधानी भोपाल के रेलवे स्टेशन प्लेटफार्म नंबर एक पर 22 वर्षीय युवती के साथ नौकरी का झांसा देकर सामूहिक दुष्कर्म करने वाले दोनो रेल्वे के कर्मचारियों को अब यूनियन से भी बाहर का रास्ता दिखा दिया है। वेस्ट सेंट्रल रेल्वे मजदूर संघ के सदस्य रहे आरोपित राजेश तिवारी और आलोक मालवीय को संध की सदस्य्ता से बर्खास्त कर दिया है।

संघ के सचिव ने बताया घिनोना कृत्य

वेस्ट सेंट्रल रेल्वे मजदूर संघ के सचिव डी.पी अग्रवाल ने कहा कि संघ की आड़ में दोनो कर्मचारियों ने जो किया है वो बहुत ही निंदनीय है। उन्होंने कहा कि आफिस बेरर राजेश तिवारी को पहले ही मांर्च माह को यूनियन से बाहर कर दिया था, जबकि इस कृत्य में शामिल आलोक मालवीय को युवती के साथ गैंग रेप करने के आरोप में यूनियन से बर्खास्त कर दिया गया है। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले दोनो ही रेल्वे के कर्मचारियों ने सरकारी नौकरी दिलाने का झांसा देकर पहले उसे नशीला पदार्थ खिलाया और फिर उसके साथ रेल्वे के ही गेस्ट हाउस में बारी-बारी से बलात्कार किया। जिसके बाद युवती ने इसकी शिकायत भोपाल जीआरपी थाना पुलिस से की थी।