bjp-state-president-rakesh-singh-protest-in-police-station

जबलपुर| भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और प्रत्याशी राकेश सिंह अपने एक वकील कार्यकर्ता के साथ टीआई द्वारा दुर्व्यवहार से नाराज हो गए, जिसके विरोध में राकेश भाजपा नेताओं के साथ थाने में धरने पर बैठ गए| लोकसभा चुनाव के चलते जिला निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर गाडियों के अधिग्रहण का कार्य किया जा रहा इसी के चलते आज दोपहर गोरखपुर थाने का स्टाफ चुनाँव के लिए वाहनों का जब अधिग्रहण कर रहा था तभी थाने के सामने से भाजपा बूथ प्रभारी की जीप वहाँ से निकली जिसे पुलिस ने रोककर चुनाँव के लिए अधिग्रहण कर लिया। जैसे ही बूथ प्रभारी वीरेंद्र पटेल को जानकारी लगती है वो भी थाने आ जाते है पर पुलिस उनका वाहन नही छोड़ती है जिसको लेकर थाना प्रभारी उमेश तिवारी और भाजपा नेता का विवाद भी होता है। विवाद की सूचना मिलते ही थाने में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, भाजयुमो के प्रदेशाध्यक्ष अभिलाष पांडेय सहित सैकड़ों भाजपा नेता आकर धरने पर बैठ गए। 

इस दौरान राकेश सिंह ने थाना प्रभारी उमेश तिवारी पर आरोप लागये है कि उन्होंने भाजपा नेता वीरेंद्र पटेल जो कि अधिवक्ता भी है उनके साथ मारपीट की है। राकेश सिंह ने ये भी आरोप लागये है कि कांग्रेस अपनी हार को अभी से देख रही है जिसके चलते जानबूझकर कर पुलिस से भाजपा नेताओं पर इस तरह की कार्यवाही करवा रही है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने मांग की है थाने में लगे सीसीटीवी कैमरों में सच देखा जाए अगर भाजपा कार्यकर्ता ने पुलिस के साथ अभद्रता की होगी तो हम माफी मंगाकर चले जायेंगे और अगर गलतीं पुलिस की होगी तो थाना प्रभारी पर सख्त कार्यवाही की जाए। 

राकेश सिंह ने इस पूरी घटना को लेकर आईजी और जिला निर्वाचन अधिकारी से भी बात की है और कहा है कि जब तक कार्यवाही नही होगी तब तक धरना जारी रहेगा। भाजपा नेताओं ने पुलिस पर ये भी आरोप लागये है कि सीसीटीवी कैमरों के साथ छेड़छाड़ कर मारपीट के वीडियो को डिलीट किया जा रहा है। राकेश सिंह के धरने पर बैठने की खबर जैसे ही पुलिस अधिकारियों को लगी वैसे ही वो भी मौके पर पहुँच कर उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया तब जाकर राकेश सिंह का धरना समाप्त हुआ।