जबलपुर, संदीप कुमार। लांग प्रूफ रेंज (एलपीआर) में सेना को दिए जाने वाले तैयार बमों का परीक्षण किया जाता है। इसी एलपीआर में परीक्षण के दौरान गुरूवार को रेंज से लगे गाँव पड़रिया के पास एक खेत मे भारी भरकम बम आ गिरा। खेत पर बम गिरते ही अफरा तफरी मच गई। बताया जा रहा है कि बम के गिरते ही खेत मे आग लग गई जिससे फसल जल कर स्वाहा हो गई, साथ ही उस समय खेत मे मौजूद ग्रामीण और किसान बाल बाल बचे।

लांग प्रूफ रेंज में होता है बड़े बड़े बमों का परीक्षण
जानकारी के मुताबिक सेना के लिए ऑर्डन्स फेक्ट्री खमरिया में जिन बमों को तैयार किया जाता है फिर उन्ही बमों का परीक्षण एलपीआर में किया जाता है। गुरूवार को परीक्षण के दौरान एक बम रेंज से भटककर लगभग 1 किलोमीटर आगे किसान के खेत में आ गिरा, जिससे खेत में गहरा गड्ढा हो गया एवं बम जमीन में समा गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पनागर पुलिस ने छानबीन करने के उपरांत जब गड्ढे के आसपास खुदाई कराई तब पता चला बम जमीन की गहराई मेंं समा गया है। इससे बम के शक्तिशाली होने का अनुमान लगा सकते हैं।

जहाँ बम गिरा वही पास ही था मिडिल स्कूल
इस हादसे में एक सुखद पहलू यह रहा कि घटनास्थल से मात्र 50 मीटर दूर एक मिडिल स्कूल था जहाँ एक बड़ी घटना होते होते रह गई। यदि यह बम थोड़ा और आगे गिरता तो निश्चित रूप से बड़ा हादसा हो सकता था।

पनागर थाना प्रभारी के अनुसार एलपीआर में संपर्क करने पर वहां केे अधिकारियों ने बतायाा कि उक्त बम में बारूद नहीं केवल लोहा था। बहरहाल जो भी हो ग्रामीणों में दहशत का माहौल है, हालांकि एलपीआर के नजदीक क्षेत्रों में खतरा हमेशा मंडराता रहता है।