रिश्वत लेते लोकायुक्त के हत्थे चढ़ा BRC, आफिस के ही एकाउटेंट से ले रहा था रिश्वत

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के जबलपुर स्थित जनपद शिक्षा केन्द्र ग्रामीण के आफिस में आज उस वक्त हड़कम्प मच गया, जब लोकायुक्त पुलिस की टीम ने विकास स्त्रोत समन्वयक ठाकुर प्रसाद पटेल को 6 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया। ठाकुर प्रसाद आफिस के ही एकाउटेंट से ही रिश्वत ले रहा था।

मध्य प्रदेश के कर्मचारियों को नवंबर में मिल सकती है खुशखबरी, सैलरी में आएगा उछाल

जनपद शिक्षा केन्द्र ग्रामीण के आफिस में पदस्थ एकाउंटेंट से कार्यालय की विभिन्न मदों के बिलों को नियम विरुद्ध लगाकर भुगतान की 60 प्रतिशत राशि व कारण बताओ नोटिस के निराकरण के एवज में विकासखंड स्त्रोत समन्वयक जनपद शिक्षा केन्द्र ठाकुर प्रसाद पटेल ने 12 हजार रुपए की रिश्वत मांगी, जिसपर एकाउंटेंट विक्रम सिंह चौहान ने एसपी लोकायुक्त अनिल विश्वकर्मा से शिकायत की। इसके बाद आज रिश्वत की पहली किश्त 6 हजार रुपए लेकर विक्रम सिंह चौहान आफिस पहुंचे और ठाकुर प्रसाद पटेल को दिए, जैसे ही ठाकुर प्रसाद ने 6 हजार रुपए लिए तभी लोकायुक्त की टीम ने दबिश देकर रंगे हाथ पकड़ लिया।

खाद की कालाबाजारी का भांडाफोड़, 1 हजार से ज्यादा खाद की बोरियां जब्त, दुकान सील

लोकायुक्त टीम के हत्थे चढ़ते ही ठाकुर प्रसाद ने रिश्वत की राशि फेंककर अधिकारियों से विवाद करना शुरु कर दिया, जिन्हे कानूनी कार्यवाही में दखल न देने की समझाइश देकर समझाया गया। ठाकुर प्रसाद के रिश्वत लेते पकड़े जाने की खबर से आसपास के आफिसों में हड़कम्प मच गया, देखते ही देखते जनपद शिक्षा केन्द्र ग्रामीण के कार्यालय में अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों की भीड़ जमा हो गई, जिनके बीच तरह तरह की चर्चाएं व्याप्त रही. लोकायुक्त टीम के अधिकारियों का कहना है कि आफिस में उनके अन्य दस्तावेजों की भी जांच की जा रही है।