हिंसक प्रदर्शन के पीछे एसडीपीआई की भूमिका, प्रदेश अध्यक्ष सहित 700 के खिलाफ FIR

जबलपुर| नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देशभर में हुए हिंसक प्रदर्शनों में एक संगठन एसडीपीआई की भूमिका सामने आई है| सोशल डैमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया नाम के इस संगठन से जुड़े लोग देशभर में हुए हिंसक प्रदर्शनों में शामिल पाए गए हैं, ऐसे में खुफिया एंजेंसियों के इनपुट पर केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने एसडीपीआई संगठन से जुड़े लोगों की जांच के निर्देश दिए हैं| इधर जबलपुर में भी 20 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हुए हिंसक प्रदर्शन में एसडीपीआई संगठन शामिल पाया गया है| 

एसडीपीआई का प्रदेश अध्यक्ष इरफान-उल-हक अंसारी जबलपुर का रहने वाला है जिसकी अगुआई में जबलपुर में 13 दिसंबर से ही नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन होने लगे थे, 20 दिसंबर को जबलपुर में हुए उपद्रव और पुलिसकर्मियों पर पथराव के मामले में पुलिस ने एसडीपीआई के प्रदेश अध्यक्ष इरफान-उल-हक के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है| 

पूरे उपद्रव में पुलिस ने करीब 700 लोगों को आरोपी बनाया है लेकिन मुख्य एफआईआर में बतौर आरोपी इरफान उल हक का नाम चौथे नंबर पर दर्ज है| जबलपुर पुलिस द्वारा की गई इस एफआईआर के बाद से इरफान उल हक फरार हो गया है जिसकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है| जबलपुर एसपी अमित सिंह के मुताबिक एसडीपीआई संगठन को लेकर उन्हें केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अलावा खुफिया एजेंसियों से इनपुट मिले हैं जिस पर आगे जांच की जा रही है|