रेल्वे अस्पताल के टॉयलेट में कैमरा लगाने का मामला, महिला आयोग ने दिए जांच के आदेश

Camera-in-toilet-in-railway-hospital-order-of-inquiry

जबलपुर| पश्चिम मध्य रेल प्रशासन और रेलवे के केन्द्रीय चिकित्सालय के ढुलमुल रवैये के चलते महिला वार्ड के बाथरूम के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगाने जाने का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। गुरूवार को वेस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ की महिला विंग की जोनल अध्यक्ष अंशू भटनागर ने महिला प्रतिनिधिमंडल के साथ भोपाल स्थित मध्यप्रदेश राज्य महिला आयोग के कार्यालय पहुंचकर इस मामले में प्वाइंट टू प्वाइंट जानकारी दी।

मजदूर संघ के महिला प्रतिनिधिमंडल ने राज्य महिला आयोग के सदस्य सचिव अक्षय श्रीवास्तव को रेलवे हॉस्पिटल के महिला वार्ड के बाथरूम के बाहर सीसीटीवी लगाए जाने के घटनाक्रम की पूर्ण जानकारी दी। उन्हें इसे लेकर मजदूर संघ की महिला विंग द्वारा जबलपुर में किए गए प्रदर्शन, रेलवे हॉस्पिटल के सीएमडी के ढुलमुल रवैये और इस संबंध में राज्य महिला आयोग को भेजी गई लिखित शिकायत से भी अवगत कराया गया। मजदूर संघ से मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में राज्य महिला आयोग के सदस्य सचिव अक्षय श्रीवास्तव ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जबलपुर कलेक्टर को जांच के निर्देश दिए हैं।गौरतलब है कि महिला बाथरूम के बाहर कैमरा लगाए जाने का मामला उजागर होने के बाद रेलवे हॉस्पिटल प्रशासन ने आनन-फानन कैमरा हटा दिया था, लेकिन उसके दूसरे दिन की पुन: कैमरा लगा दिया गया। इसे लेकर मजदूर संघ की आमहिला विंग ने हॉस्पिटल में प्रदर्शन करते हुए सीएमडी से आपत्ति दर्ज कराते हुए तत्काल कैमरा हटाने की मांग की गई थी।