लेडी एल्गिन अस्पताल में बिल्ली का खौफ़, दो नवजात बच्चियों पर हमला

जबलपुर, संदीप कुमार। संभाग के सबसे बड़े लेडी एल्गिन अस्पताल में अब प्रसूता और उनके नवजात बच्चे अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। इसकी वजह यह है कि इन दिनों लेडी एल्गिन अस्पताल में एक बिल्ली का आतंक है। आतंक इतना कि अभी तक इस खूंखार बिल्ली ने दो नवजात बच्चों को पंजा मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया है। अस्पताल प्रबंधन अब बिल्ली को पकड़ने के लिए नगर निगम और वन विभाग से मदद मांग रहा है।

बिल्ली के हमले से खौफ़ में परिजन
महिलाओं के प्रसव और नवजात बच्चों की देखरेख को लेकर संभाग का सबसे बड़ा लेडी एल्गिन अस्पताल में अब सुरक्षा को लेकर सवाल उठने लगे है। बिल्ली का इस तरह से मासूम पर हमला करने को लेकर भर्ती मरीज और उनके परिजन खौफ़ में है। परिजनों का कहना है कि लेडी एल्गिन अस्पताल की सुरक्षा भगवान भरोसे हो गई है, यही वजह है कि अब यहां पर इलाज करवाने से डर लग रहा है।

दो बच्चियों के आंख और मुंह पर बिल्ली ने मारा पंजा
लेडी एल्गिन अस्पताल में बेखौफ होकर घूम रही खूंखार बिल्ली ने पहली हमले की घटना को अंजाम 5 नवंबर को दिया जब बच्ची की मां उसे दूध पिला रही थी। उसी दौरान बच्ची ने कटोरी पर हमला कर दिया और बच्ची के चेहरे पर पंजा मारकर वहां से भाग खड़ी हुई। वहीं दूसरी घटना आज सुबह 20 नवंबर की है जब एक बच्ची पलंग पर सोई थी। उसकी मां उसके पास थी उसी दौरान खूंखार बिल्ली ने बच्ची के पास आकर उसकी आंख पर हमला कर दिया और वहां से भाग गई। अभी दोनों ही बच्ची को बच्चियों को sncu मे भर्ती किया है जहाँ उनकी हालत स्थिर बनी हुई है।

नगर निगम और वन विभाग से ली जाएगी बिल्ली को पकड़ने के लिए मदद
लेडी एल्गिन अस्पताल प्रबंधन अब बेखौफ होकर अस्पताल में घूम रही खूंखार बिल्ली को पकड़ने के लिए वन विभाग और नगर निगम की मदद लेगा। लेडी एल्गिन अस्पताल प्रबंधन की मानें तो निश्चित रूप से बिल्ली के लगातार हमले की यह घटना चिंताजनक है। लिहाजा इस को देखते हुए अब वन विभाग और नगर निगम की मदद ली जा रही है। कोशिश यह भी की जा रही है कि जल्द से जल्द खूंखार बिल्ली को पकड़ा जाए।

परिजनों का गंभीर आरोप
इधर घायल हुई बच्ची के पिता आशीष प्रजापति का लेडी एल्गिन अस्पताल प्रबंधन पर गंभीर आरोप लगाया है। बच्ची के पिता का कहना है कि यहां पर मरीजों का इलाज भगवान भरोसे होता है। इतना ही नहीं सुरक्षा व्यवस्था के भी यहां पर कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। यही कारण है कि बेखौफ होकर घूम रही खूंखार बिल्ली ने एक नहीं दो-दो बच्चियों को घायल कर दिया। बच्ची के पिता ने प्रशासन से लेडी एल्गिन अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।