CCTV-close-of-Strong-Room-in-jabalpur

जबलपुर| जबलपुर में हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के मतदान के बाद भले ही इस बार इन ईवीएम और वीवीपैट का जिम्मा सीआईएसएफ और एएसएफ के जवानों के अलावा मध्य प्रदेश पुलिस की तीन लेयर की सुरक्षा का जाल बिछाया गया हो| लेकिन चुनाव आयोग ने स्ट्रांग रूम में रखी ईवीएम की सुरक्षा को लेकर नया फरमान जारी किया है| 

चुनाव आयोग ने अपने इस फरमान में स्ट्रांग रूम में लगे सीसीटीवी कैमरों के कनेक्शन को काटने के निर्देश दिए है| जिसके बाद एमएलबी स्कूल में बने स्ट्रांग रूम के लिए रिटर्निंग अधिकारी छवि भारद्वाज ने सूचना भेजकर राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों को बुलाया और उन्हें चुनाव आयोग के निर्देश बताते हुए स्ट्रांग रूम के अंदर लगे सभी सीसीटीवी कैमरों के कनेक्शन को काट दिया गया| जबलपुर की रिटर्निंग अधिकारी छवि भारद्वाज की माने तो चुनाव आयोग के ईवीएम मशीनों की सुरक्षा को लेकर जो नए निर्देश दिए गए है उनके मुताबिक़ स्ट्रांग रूम के अंदर न तो बिजली कनेक्शन और न ही बिजली के तार बिछाए जा सकते और न ही उनमें बिजली सप्लाई की जानी है… इसलिए एमएलबी स्कूल में बने  स्ट्रांग रूम के अंदर जहां पहले ही बिजली कनेक्शन काटे जा चुके थे| वही आयोग के आदेश पर स्ट्रांग रूम के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों के कनेक्शन काट दिए गए है| जबकि स्ट्रांग रूम के बाहर दरवाजों सहित स्कूल के गलियारों और परिसर में लगे बाकी कैमरों को बंद नहीं किया गया है| .हालांकि तकनीकी जानकारों का कहना है कि सीसीटीवी के वायरों में सिर्फ 12 वोल्ट का मामूली बिजली प्रवाह होता है..इससे किसी भी तरह का शार्ट सर्किट या आग लगने का खतरा नहीं होता…।