चर्चा में आया ऑर्डनेंस फैक्ट्री का ये तुगलकी फरमान

Ordnance-Factory-Jabalpur-bombs-destroyed-terrorists-camps-know-what-is-the-specialty

जबलपुर। संदीप कुमार।
कोरोना वायरस में लगे लॉक डाउन के बीच केंद्रीय सुरक्षा संस्थान ऑर्डन्स फैक्ट्री खमरिया ने अपना तुगलकी फरमान जारी करते हुए फैक्ट्री के आसपास के तमाम गेटों को बंद कर दिया है। जिसके चलते मानेगांव, दीवान बाड़ा, चंपानगर, मोहनिया में रहने वाले लाखों लोगों के आने जाने का रास्ता बंद हो गया है। ऐसे में इन बस्तियों में रहने वाले लोगों को 3 से 4 किलोमीटर घूमकर रांझी के रास्ते शहर में जाना पड़ेगा।

रास्ते में बेरियर लगाने का स्थानीय लोगों ने किया विरोध….
स्थानीय रहवासियों को जैसे ही पता चला कि फैक्ट्री के सुरक्षा गार्डों ने दीवान बाड़ा के मेन गेट पर बेरियर लगा दिया है वैसे ही लोगों की भीड़ वहाँ जमा हो गई।स्थानीय लोगों ने फैक्ट्री प्रशासन के इस रवैए का कड़ा विरोध किया है।लोगों का कहना है कि अगर दीवान बड़ा के रास्ते में बैरियर लगाया जाता है तो यहां से निकलने वाले हजारों लोगों के आने जाने का मार्ग बंद हो जाएगा ऐसे में इन तमाम लोगों को रांझी होकर जाना पड़ेगा जो कि काफी लंबा रास्ता है।

बेरियर लगने की सूचना पर कर्मचारी नेताओं का दल भी पहुंचा मौके पर….

फैक्ट्री में काम करने वाले कर्मचारी नेताओं को जैसे ही इसकी भनक लगी कि दीवान बाड़ा में बेरियर लगा दिया गया है और हर आने जाने वालों के लिए रास्ता बंद कर दिया गया है तो बड़ी संख्या में कर्मचारी नेता पहुंच गए। इधर सुरक्षा अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल परमार भी भीड़ की जानकारी लगते ही पहुंचे इस दौरान सुरक्षा अधिकारी के इस फैसले का कर्मचारी नेताओं ने कड़ा विरोध किया है। कर्मचारी नेताओं का कहना है कि फैक्ट्री प्रशासन का यह फरमान पूरी तरह से तुगलकी है। बीते कई सालों से जो कभी नहीं हुआ है और जो रास्ता हमेशा ही आम जनों के लिए खुला रहता है उस रास्ते को बंद करके फैक्ट्री के जीएम रविकांत महेश्वरी ने हिटलर शाही रवैया अपनाया है।

सांसद राकेश सिंह तक पहुंची जानकारी….
आमजनों के लिए बेरियर लगाने पर भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेंद्र तिवारी ने इसका कड़ा विरोध किया। साथ ही सांसद राकेश सिंह को इस पूरे मामले में फोन पर जानकारी भी दी गई जिसके बाद सांसद की तरफ से आश्वासन मिला है कि जल्द ही फैक्ट्री प्रशासन से बात करके रास्ता खुलवाया जाएगा।

मानेगांव बस्ती में जाने के लिए हैं चार रास्ते चारों ही किए गए बंद….
दर्शल कोरोना वायरस के चलते नगर निगम और जिला प्रशासन ने पहले से ही चंदन कालोनी और चंपानगर का गेट बंद कर दिया था वही इसके बाद अब दीवान बाड़ा और एक अन्य गेट बंद होने से बस्ती में रहने वालों को काफी परेशानी जा रही है अब ऐसी स्थिति में फैक्ट्री प्रशासन के खिलाफ स्थानीय लोगों का गुस्सा फैक्ट्री प्रबंधन पर जमकर फूट रहा है।