Jabalpur : डेंगू के बढ़ते कहर को लेकर कांग्रेस ने फूंका नगर निगम का पुतला, पुलिस और कांग्रेसियों में हुई झड़प

डेंगू को लेकर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसी नेताओं पर पुलिस के द्वारा लाठीचार्ज करने से कार्यकर्ता बिफर गए और उन्होंने सीएसपी के निलंबन की मांग की है।

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश (MP) में लगातार ड़ेंगू अपने पैर पसार रहा है। जबलपुर ( Jabalpur ) में तो डेंगू (Dengue) से हालात बिगड़ते जा रहे है पर नगर निगम है कि गहरी नींद में सो रहा है। लिहाजा बढ़ते डेंगू को देखते हुए कैंट विधानसभा (cantt assembly) के रांझी मालेगांव में आज कांग्रेसियों ने नगर निगम (municipal corporation) का पुतला फूंका और विधायक अशोक रोहाणी (MLA Ashok Rohani) के खिलाफ भी नारेबाजी की। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प भी हुई। जिसके बाद कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पुलिस के खिलाफ भी नारेबाजी की।

यह भी पढ़ें…Mandsaur : पुलिस ने बच कर भाग रहे शराब माफियाओं की कार पलटी, वाहन छोड़ भागे आरोपी, 24 पेटी शराब जब्त 

झड़प के दौरान कांग्रेसी हुए घायल
जानकारी के मुताबिक जिले की कैंट विधानसभा में ड़ेंगू की स्थिति बहुत ही खराब है। जिसके चलते आज कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने नगर निगम का पुतला फूंका। जहाँ प्रदर्शन के दौरान पुलिस से जमकर झड़प भी हुई, इसी विवाद के चलते पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज कर दिया। जिसके चलते दो कार्यकर्ताओ को लाठी चार्ज के दौरान घायल हो गए। जिसके बाद जमकर हंगामा हुआ, इधर इस पूरे घटनाक्रम के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी मौके पर पहुँच गए जहाँ सीएसपी से उनकी कहासुनी भी हो गई।

सीएसपी को किया जाए निलबिंत
डेंगू को लेकर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसी नेताओं पर पुलिस के द्वारा लाठीचार्ज करने से कार्यकर्ता बिफर गए और उन्होंने सीएसपी के निलंबन की मांग की है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आरोप है कि उनका पुतला फूंकने का प्रदर्शन शांतिपूर्ण ढंग से चल रहा था पर सीएसपी ने कार्यकर्ताओं पर लाठी चलवाया जिसके कारण कुछ कार्यकर्ता घायल हुए है।

बढ़ा विवाद ASP को संभलना पड़ा मोर्चा
कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के ऊपर लाठीचार्ज और फिर उनके घायल होने को लेकर कांग्रेस के नेताओं ने थाने का घेराव करने की कोशिश की, जिसकी भनक जैसे ही ASP संजय अग्रवाल को भी लगी तो वह भी रांझी थाने (Ranjhi police station) पहुँच गए। जहाँ उन्होंने दोनों पक्षों को आमने सामने बैठाया तब जाकर मामला शांत हुआ।

यह भी पढ़ें… बेटी होने पर लोगों को खिलाई फ्री फुल्की, समाज को दिया संदेश