जबलपुर|संदीप कुमार| कोरोना वायरस संक्रमण से पीड़ित जबलपुर के पहले मरीज जेवलर्स संचालक मुकेश अग्रवाल उनकी पत्नी और एक अन्य युवक की आज मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड से छुट्टी हो गई है। आईसीएमआर से दूसरी रिपोर्ट भी तीनो की निगेटिव आई है जिसके बाद मुकेश अग्रवाल उनकी पत्नी और निषद शर्मा को छुट्टी दी गई है।

मुकेश अग्रवाल दुबई से तो निषद आया था जापान से….
कोरोना वायरस का पहला संक्रमित मरीज जबलपुर में मुकेश अग्रवाल था जो कि अपने परिवार के साथ दुबई गया था और वापस आने के बाद टेस्ट कराने की बाजय दूकान खोलकर बेठ गया था जिसके चलते बाद में कई और लोग भी उसके संपर्क में आने से कोरोना वायरस संक्रमित हो गए थे।जबकि निषद शर्मा नाम का व्यक्ति जपान से वापस आया था और जबलपुर वापस आने के बाद अपने आपको होम आइसोलेट कर लिया था।बाद में जिला प्रशासन ने एतिहातन तौर पर उसे भी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कर दिया था।

आज मिली निगेटिव रिपोर्ट तीनो गए घर,जिला प्रशासन ने घर से बाहर न जाने के दिये निर्देश…..
कोरोना वायरस संक्रमित होने के बाद मुकेश अग्रवाल और उनके परिवार सहित दुकान में काम करने वाले 25 से ज्यादा लोगो को मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया था जहाँ 8 लोगो की पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी और सभी को मेडिकल कालेज में भर्ती कर ईलाज किया गया।आज 15 दिन बाद जब तीनो की रिपोर्ट निगेटिव आई तो उन्हें डिस्चार्ज किया गया पर अभी घर पर ही रहने के निर्देश दिए गए है।

अभी भी पाँच पॉजिटिव मरीज है मेडिकल कॉलेज में भर्ती…..
जेवलर्स संचालक मुकेश अग्रवाल की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जब उनके संपर्क में रहने वाले परिजन और दूकान कर्मचारी की जाँच की तो चार कर्मचारियो की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई जिसके बाद सभी पॉजिटिव मरीजो को इलाज के लिए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया था।आज तीन मरीज की छुट्टी होने के बाद बाकी के मरीजो की रिपोर्ट 7 एवं 9 अप्रैल को फिर से आईसीएमआर भेजी जाएगी और अगर रिपोर्ट निगेटिव आती है तो फिर इनको भी छुट्टी दी जाएगी।