Corona Update : जिला प्रशासन पंचायत स्तर पर करेगा कोरोना समिति का गठन, राज्य सरकार के निर्देश

जबलपुर, संदीप कुमार

कोरोना वायरस संक्रमण अब शहर के साथ-साथ ग्रामीण अंचलों में भी अपने पैर पसार रहा है। यही वजह है कि अब कोरोना के मरीज ग्रामीण स्तर पर भी सामने आ रहे हैं। यह भी देखा जा रहा है कि शहर की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्रों में लोग कोरोना संक्रमण को गंभीरता से  नहीं ले रहे हैं, यही वजह है कि अब राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन पंचायत स्तर पर भी कोरोना संबंधित समिति गठित करेगा।

राज्य सरकार के निर्देश पर जबलपुर संभाग में शुरू हुई प्रक्रिया
गृह विभाग के निर्देश पर जबलपुर संभाग में पंचायत स्तर की समितियां बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। यह समिति कोरोना संबंधित जानकारियां ग्रामीण स्तर पर प्रेषित करेगा। पंचायत स्तर की समिति को लेकर संभाग कमिश्नर महेश चंद्र चौधरी ने बताया कि जबलपुर के सभी जिलों में पंचायत स्तर कि समिति बनाने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं, संभाग के सभी कलेक्टरों को दिशा निर्देश भी दे दिए गए हैं। इस निर्देश के तहत जिला स्तर के अधिकारी पंचायत समितियों की बैठक लेंगे उनके कार्यों की निगरानी करेंगे।

पंचायत स्तर पर समिति बनाने का यह है उद्देश्य
संभाग कमिश्नर महेश चंद्र चौधरी ने बताया कि शहरी क्षेत्रों में तो कोरोना संक्रमण को लेकर लोग जागरूक हो गए हैं, पर ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी देखा जा रहा है कि इस बीमारी को ग्रामीण गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। यही वजह है कि अब शहर से ज्यादा ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के मरीज सामने आ रहे हैं। संभाग कमिश्नर ने बताया कि जैसे ही पंचायत स्तर पर कोरोना संबंधित मरीज मिलता है तो उसे तुरंत ही इलाज मुहैया करवाना क्वारंटाइन करना यह मुख्यता इस समिति का उद्देश्य है। साथ यह भी देखा जाएगा कि इलाज में लापरवाही न बरती जाए और मौत किसी भी कीमत पर कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति की ना हो यह इस पंचायत स्तर समिति बनाने का मुख्य उद्देश्य है।

मरीज अब अपने परिजनों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से कर सकते हैं बात
शहरी क्षेत्र हो या फिर ग्रामीण क्षेत्र, कोरोना वायरस से संबंधित मरीजों के लिए जिला प्रशासन ने एक राहत भी दी है। अब ऐसे मरीज जो कि अस्पताल में क्वारेंटाइन हैं, वह अपने परिजनों से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए बात कर सकते हैं। राज्य सरकार के निर्देश के बाद संभाग कमिश्नर ने सभी कलेक्टरों को यह आदेश भी जारी कर दिए हैं कि कोरोना पॉजिटीि मरीजों को उनके परिजनों से बात करने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेसिंग की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। इसके अलावा जबलपुर के मेडिकल कॉलेज में शुरू की गई प्लाज्मा थेरेपी को भी एक बड़ी कामयाबी माना जा रहा है।

बता दें कि जबलपुर में हाल ही में अचानक कोरोना से मौत की संख्या भी बढ़ी है, यही वजह है कि राज्य सरकार सहित जिला प्रशासन ने अब कोविड-19 बीमारी से लड़ने के हर प्रयास शुरू कर दिए है। इसका एक उदाहरण है ग्राम पंचायत स्तर पर कोरोना संबंधित समिति टीम का गठन करना। फिलहाल अब देखना यह होगा कि पंचायत स्तर की समिति कोरोना संक्रमण से किस तरह से लड़ती है।