Vyapam 2.0: नर्सिंग कॉलेज फर्जीवाड़े में आरोपियों को कोर्ट में किया गया पेश, 1 जून तक CBI को सौंपी रिमांड

आरोपी प्रीति तिलकवार, सचिन जैन ने जमानत आवेदन पेश किया है, जिसको स्वीकार करते हुए कोर्ट ने 31 मई को अगली सुनवाई की तारीख दे दी है।

cbi

Vyapam 2.0: मध्य प्रदेश में नर्सिंग कॉलेज के फर्जीवाड़े मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों की रिमांड आज यानी बुधवार को खत्म हो गई थी, जिसके बाद उन्हें सीबीआई के स्पेशल कोर्ट में पेश किया गया। इस मामले में कोर्ट ने चार आरोपियों को, जिसमें राहुल राज, ओम गोस्वामी, रवि भदौरिया और जुगल किशोर शर्मा शामिल हैं। इन चारों आरोपियों को 1 जून तक सीबीआई की रिमांड पर भेज दिया गया है।

NSUI नेता दर्ज कराएंगे आपत्ति

वहीं, इस मामले में आरोपी प्रीति तिलकवार, सचिन जैन ने जमानत आवेदन पेश किया है, जिसको स्वीकार करते हुए कोर्ट ने 31 मई को अगली सुनवाई की तारीख दे दी है। वहीं, आरोपियों की जमानत याचिका पर NSUI नेता रवि परमार ने अपने वकील आशीष निगम के माध्यम से आपत्ति शुक्रवार को आपत्ति दर्ज कराएंगे। फिलहाल, कोर्ट दोनों ही पक्षों की दलीलों को सुनकर न्याय सम्मत फैसला देगा।

9 आरोपियों को भेजा जेल

दरअसल, 23 अपात्र नर्सिंग कॉलेजों को रिश्वत लेकर क्लीन चिट दे दी गई थी। वहीं, इस मामले पिछले दिनों 13 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। इसके बाद उन्हें 10 दिनों की रिमांड पर भेज दिया गया था। रिमांड खत्म होने के बाद 9 आरोपियों को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया गया था, जिन्हें कोर्ट की तरफ से जेल में भेज दिया गया था।


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है–खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालोमैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।